67th bpsc exam : 50 प्रतिशत से कम उत्तर देनेवाले और आधार के अलावा दूसरा पहचान पत्र दिखानेवाले अभ्यर्थियों पर होगी कड़ी निगरानी

67th bpsc exam :  50 प्रतिशत से कम उत्तर देनेवाले और आधार के अलावा दूसरा पहचान पत्र दिखानेवाले अभ्यर्थियों पर होगी कड़ी निगरानी

PATNA :  शुक्रवार को होनेवाले बीपीएससी के 67वीं प्रारंभिक परीक्षा को लेकर सभी जिलों में पूरी तैयारी कर  ली गई है। सभी सेंटरों पर सुरक्षा से लेकर अन्य जरूरी व्यवस्थाओं को लेकर खुद डीएम की निगरानी कर रहे हैं। इसके साथ ही इस बार परीक्षा को लेकर कई बड़े बदलाव किए जा रहे हैं। जिसके बाद इस बार परीक्षा में किसी प्रकार की गड़बड़ी की संभावना काफी हद तक कम हो जाएगी।

परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों पर आयोग की सख्त नजर रहेगी। इस परीक्षा में 50 प्रतिशत से कम प्रश्नों के जवाब देने वाले तथा संदिग्ध गतिविधि वाले अभ्यर्थियों के रौल नंबर की सूची अलग से आयोग को संबंधित केंद्र से भेजी जाएगी। इसके अलावा   परीक्षा देने वाले वाले अभ्यर्थी पहचान पत्र के रूप में आधार कार्ड के अतिरिक्त कोई अन्य फोटो पहचान पत्र देते है तो उनकी भी रौल नंबर अलग से दर्ज किया जाएगा। इसे भी केंद्राधीक्षक के माध्यम से आयोग के पास भेजना है। सभी परीक्षा केंद्रों पर जैमर लगाया गया है।

स्टील बाक्स में पहुंचेगा प्रश्न पत्र

परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा के दिन सुबह 11 बजे के बाद प्रश्न पत्र स्ट्रांग रूम से भेजा जाएगा। यह प्रश्न पत्र स्टील के बाक्स में भेजा जाएगा। इसमें विशेष प्रकार का लाक लगाया गया है। परीक्षा केंद्रों पर केंद्राधीक्षक व प्रतिनियुक्त की निगरानी में स्टील बाक्स को सुबह 11:50 के बाद खोला जाएगा। इसके प्रश्न पत्र का बैग सभी परीक्षा कक्ष में भेजा जाएगा। जहां परीक्षार्थी के समक्ष प्रश्न पत्र का बैग खुलेगा। परीक्षा समाप्ति के बाद अभ्यर्थियों के सामने ही इसे सील कर दिया जाएगा।

67वीं संयुक्त पुनर्परीक्षा 30 सितंबर को राज्य के 1153 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित होगी। परीक्षा में शामिल होने के लिए छह लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आनलाइन आवेदन किया है। परीक्षा केंद्रों पर अभ्यर्थियों को सुबह 10 बजे रिपोर्टिंग करनी है। सुबह 11 बजे तक ही परीक्षा केंद्रों पर इंट्री दी जाएगी। इसके बाद किसी भी परिस्थिति में इंट्री नहीं दी जाएगी।




Find Us on Facebook

Trending News