इस जगह इलाज में फेल है साइंस के तमाम तरीके, कुत्ते के काटने पर पीतल की थाली से कर रहे हैं इलाज

इस जगह इलाज में फेल है साइंस के तमाम तरीके, कुत्ते के काटने पर पीतल की थाली से कर रहे हैं इलाज

KATIHAR : हमारे मेडिकल साइंस बहुत आगे निकल चुका है और लगातार मेडिकल साइंस द्वारा आविष्कारों की नई कीर्तिमान रचा जा रहा है लेकिन अब भी कई बार है इलाज है लिए लोग वैसे पारंपरिक तरीका अपनाते हुए दिख जाते है जिसे देखकर चौकना लाजमी है, 

तस्वीरें कटिहार शहर के प्रखंड कार्यालय के सामने की है जहां एक व्यक्ति के पीठ पर पित्तल के थाली चिपका कर कुछ मंत्र के माध्यम से उसके शरीर से कुत्ता काट लेने के बाद जहर निकालने की ट्रीटमेंट करने की दावा कर रहे है, कुछ देर तक एक थाली चिपके रहने के बाद जैसे ही एक छोटे से गिट्टी के कन थाली में फेंकने के बाद वह शरीर से अलग होकर गिर जाता है। वैसे ही इलाज करने वाले शख्स दावा करते हैं की शरीर से पूरी तरह कुत्ता काटने के बाद फैला जहर निकल चुका है।


जहां तक पीड़ित व्यक्ति का कहना है कई लोगों से सुनकर वो इलाज के लिए इस तरीका को अपना रहे और इससे वह संतुष्ट है अब मेडिकल साइंस में इसका क्या आधार है यह तो मेडिकल साइंस से साफ कर सकता है मगर आज भी सुदूर इलाके में इलाज के ऐसे तरीका अचंभित करता है।

न्यूज4नेशन इलाज के ऐसे तरीकों का समर्थन नहीं करता है। यह सिर्फ लोगों को जागरुक करने के उद्देश्य से प्रकाशित किया गया है। ताकि कुत्ते के काटने या सांप के डंसने पर झाड़फूंक और मंत्रों पर इलाज पर भरोसा नहीं करें।


Find Us on Facebook

Trending News