बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • पटना में होटल के कमरे में शव मिलने से मचा हड़कंप , फांसी के फंदे पर लटका  मिला युवक
  • पटना में होटल के कमरे में शव मिलने से मचा हड़कंप , फांसी के फंदे पर लटका

  • सौर ऊर्जा से जगमग होंगे सभी थाना एवं पुलिस भवन, सीएम नीतीश ने किया राज्य पुलिस एवं कारा व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण हेतु उद्घाटन एवं शिलान्यास
  • सौर ऊर्जा से जगमग होंगे सभी थाना एवं पुलिस भवन, सीएम नीतीश ने किया राज्य पुलिस एवं कारा

  • सब के ससुराले वाला पार्टी बा...लालू यादव के खाली ना... परिवारवाद के सवाल पर भड़की राबड़ी देवी, पीएम मोदी से लेकर आनंद मोहन तक को खूब सुनाया
  • सब के ससुराले वाला पार्टी बा...लालू यादव के खाली ना... परिवारवाद के सवाल पर भड़की राबड़ी देवी, पीएम

  • स्कूल टाइमिंग पर नहीं मानना है केके पाठक का आदेश, एमएलसी नीरज का ऐलान- सिर्फ सीएम नीतीश की बात मानें शिक्षक
  • स्कूल टाइमिंग पर नहीं मानना है केके पाठक का आदेश, एमएलसी नीरज का ऐलान- सिर्फ सीएम नीतीश की

  • हाजीपुर कोर्ट जा रहे दो बाइक सवार सड़क दुर्घटना के हुए शिकार, एक की मौके पर हुई मौत, दूसरा गंभीर रुप से जख्मी
  • हाजीपुर कोर्ट जा रहे दो बाइक सवार सड़क दुर्घटना के हुए शिकार, एक की मौके पर हुई मौत,

  • राजद विधायक सुधाकर की चुनौती,  बक्सर में दिखेगा प्रधानमंत्री के खिलाफ जनाक्रोश, सीएम नीतीश को भी दिया चैलेंज
  • राजद विधायक सुधाकर की चुनौती, बक्सर में दिखेगा प्रधानमंत्री के खिलाफ जनाक्रोश, सीएम नीतीश को भी दिया

  • अनुमंडल अस्पतालों में उपलब्ध कराए जाएंगे शव वाहन.. विधानसभा में नीतीश मिश्रा के सवाल पर सरकार ने दिया जवाब
  • अनुमंडल अस्पतालों में उपलब्ध कराए जाएंगे शव वाहन.. विधानसभा में नीतीश मिश्रा के सवाल पर सरकार ने दिया

  • पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष के निधन पर सीएम नीतीश ने व्यक्त की गहरी शोक-संवेदना
  • पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष के निधन पर सीएम नीतीश ने व्यक्त की गहरी शोक-संवेदना

  • सीएम नीतीश के चहेते विधायक गोपाल मंडल को फिर मिलेगा रिवॉल्वर, लाइसेंस हुआ निलंबन मुक्त
  • सीएम नीतीश के चहेते विधायक गोपाल मंडल को फिर मिलेगा रिवॉल्वर, लाइसेंस हुआ निलंबन मुक्त

  • बिहार BJP कार्यालय के बाहर भारी लाठीचार्ज, वर्दी वालों को ही दौड़ा दौड़ा कर पुलिस ने पीटा, महिलाओं को नहीं बख्शा
  • बिहार BJP कार्यालय के बाहर भारी लाठीचार्ज, वर्दी वालों को ही दौड़ा दौड़ा कर पुलिस ने पीटा, महिलाओं

भाजपा के खिलाफ नीतीश की रणनीति को अरविंद केजरीवाल ने दिया बड़ा झटका, विपक्षी एकता से इस कारण बनाई दूरी

भाजपा के खिलाफ नीतीश की रणनीति को अरविंद केजरीवाल ने दिया बड़ा झटका, विपक्षी एकता से इस कारण बनाई दूरी

पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आने वाले लोकसभा चुनाव के पहले विपक्षी एकता को मजबूत करने के लिए पिछले महीनों के दौरान कई नेताओं से मुलाकात कर चुके हैं. लेकिन अब नीतीश की इस मुहीम को आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने बड़ा झटका दिया है. कहा जाए तो बनने से पहले ही विपक्षी एकता का एक धड़ा अलग हो चुका है और इसमें पहला नाम अरविंद की पार्टी आप का है जो दिल्ली और पंजाब में सत्तासीन है. दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने साफ संकेत दे दिया है कि वे जदयू नेता और बिहार के सीएम नीतीश के साथ भाजपा के खिलाफ बनने वाले विपक्षी संगठन में शामिल नहीं होंगे. 

दिल्ली और पंजाब में सरकार बना चुकी आप इन दिनों गुजरात में चुनावी दमखम दिखा रही है. इसी बीच आप नेता अरविंद ने कहा कि उन्हें गठबंधन की राजनीति समझ में नहीं आती है. जब भी गठबंधन की या विपक्षी एकजुटता की बात आती है तो, उसका मकसद बीजेपी को हराना ही होता है. बीजेपी या किसी भी अन्य पार्टी को हराने या जिताने का काम जनता करती है, नहीं की कोई दल. उन्होंने कहा कि अगर हम सभी इकट्ठा हो जाएं और जनता के सामने जाकर ये कहें कि हमें बीजेपी को हराने के लिए वोट दो, अगर जनता भाजपा को हराना नहीं चाहती तो हमें स्वीकार नहीं करेगी. केजरीवाल ने स्पष्ट किया कि बीजेपी को हराने के लिए बने किसी भी गठबंधन में वे शामिल नहीं होंगे. अगर देश की तरक्की के लिए कोई गठबंधन बनता है तो वे उसके साथ हैं.

दरअसल, नीतीश कुमार ने कुछ महीने पूर्व देश के कई विपक्षी नेताओं से मुलाकात की थी. इसमें अरविंद केजरीवाल भी शामिल थे. दो दिन पूर्व ही महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे भी पटना में नीतीश से मिले थे. इन सारी मुलाकातों के पीछे नीतीश की विपक्षी एकता की मुहीम के रूप में देखा जा रहा था. नीतीश कुमार के अलावा कई अन्य विपक्षी नेताओं ने भाजपा को 2024 के लोकसभा चुनव में हराने के लिए विपक्षी एकता की जरूरत की बात कही है. हालांकि कहीं से भी अभी तक ऐसी किसी एकता को साकार करने की दिशा में जमीनी प्रयास नहीं दिखा था. 

इस बीच अब अरविंद केजरीवाल के ताजा बयान से नीतीश की उम्मीदों का बड़ा झटका लगा है अरविंद की पार्टी आप इस समय दो प्रमुख राज्यों दिल्ली और पंजाब में सत्तासीन है. देश में भाजपा और कांग्रेस को छोड़कर आप ही एक मात्र पार्टी है जो दो राज्यों में सत्तासीन है. साथ ही देश में सबसे तेजी से जिस दल का सांगठनिक विस्तार हुआ है उसमें आप शीर्ष पर है. इसलिए विपक्षी एकता की मुहीम को साकार करने में अरविंद का नीतीश को साथ देना बेहद अहम समझा जा सकता है. लेकिन केजरीवाल ने सीधे तौर पर ऐसे किसी गठबंधन में शामिल होने की संभावना ख़ारिज कर दी है.