इस बड़े नेता के इशारे पर शिवानंद तिवारी नीतीश कुमार को आश्रम भेजने की बात, भाजपा ने बता दी असली सच्चाई

इस बड़े नेता के इशारे पर शिवानंद तिवारी नीतीश कुमार को आश्रम भेजने की बात, भाजपा ने बता दी असली सच्चाई

PATNA : बिहार सरकार में साथी राजद  के नेता शिवानंद तिवारी ने जिस तरह से राजनीति छोड़कर आश्रम जाने  की सलाह दे दी।   राजद की बैठक में शिवानंद तिवारी का बयान इस ओर इशारा करता है। साथ ही राजद में कोई भी अपने मन से कुछ भी नहीं बोल सकता है। यहां सिर्फ एक ही व्यक्ति की बातों को माना जाता है। वह व्यक्ति हैं लालू प्रसाद। लालू प्रसाद के बिना मर्जी के शिवानंद तिवारी ऐसी बात बोल जाएंगे तो उन पर कार्रवाई हो जाती। इसलिए राजद की तरफ से ऐसी बात कही गई है तो यह मान लीजिए कि वह नीतीश कुमार को अब मुख्यमंत्री के रूप में देखना नहीं चाहती है। यह कहना है भाजपा नेता व एमएलसी नवल किशोर यादव का।
भाजपा नेता ने कहा कि राजद के साथ गठबंधन कर नीतीश कुमार ऐसे दलदल में फंस गए हैं, जहां से उनका निकलना मुश्किल है। आज नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री रहते हुए भी कैबिनेट की मीटिंग में खुलेआम राजद कोटे के एक मंत्री यह कहता है कि वह उन्हें अपना नेता नहीं मानता है। नीतीश कुमार को कभी ऐसा सामना नहीं करना पड़ा है। नीतीश कुमार ने  पिछली बार जिस तरह से राजद को छोड़ कर भाजपा के साथ सरकार बनाई थी। अब राजद वाले गिन-गिन कर उसका बदला ले रहे हैं। नीतीश कुमार के साथ मजबूरी यह है कि वह इसका विरोध भी नहीं कर पा रहे हैं, क्योंकि 45 विधायकों वाली पार्टी का 80 विधायकों वाली पार्टी से कोई मुकाबला नहीं हो सकता है, नीतीश कुमार यह जानते हैं. इसलिए उनके पास अब कोई विकल्प नहीं बचा है।

मुख्यमंत्री बदलने की बात आएगी तो फिर पाला बदल लेंगे

नवल किशोर यादव ने कहा कि राजदवाले भले ही यह चाहते हों कि तेजस्वी मुख्यमंत्र बनें लेकिन  इतना आसान नहीं है। क्योंकि नीतीश कुमार की खासियत रही है कि वह कभी अपनी कुर्सी और पावर किसी दूसरे के साथ शेयर नहीं करते हैं। वह अपने पांच ब्यूरोक्रेट्स के साथ बिहार की कुर्सी पर बैठे रहना चाहते हैं।  बात जब भी तेजस्वी के सीएम बनने की होगी, तो नीतीश कुमार फिर से पाला बदल लेंगे और दूसरी पार्टी के साथ सरकार बनाने के लिए चल देंगे।

बहरहाल, जिस तरह से शिवानंद तिवारी ने आश्रम चलने की बात कही है, उसके बाद नीतीश कुमार के प्रधानमंत्री बनने के सपने दूर की कौड़ी नजर आने लगी है। राजद नेता कभी भी खुलकर यह बात कह कहने  को लेकर परहेज करती रही है। अब शिवानंद तिवार की बातों से साफ हो गया है कहीं न कहीं राजद भी जानती है कि नीतीश कुमार का सपना कभी पूरी नहीं होगा।

Find Us on Facebook

Trending News