औरंगाबाद पुलिस ने बालू माफिया के खिलाफ की कार्रवाई, 43 ट्रक सहित दर्जनों वाहन किया जब्त, तीन को किया गिरफ्तार

औरंगाबाद पुलिस ने बालू माफिया के खिलाफ की कार्रवाई, 43 ट्रक सहित दर्जनों वाहन किया जब्त, तीन को किया गिरफ्तार

AURANGABAD : बरसात के दिनों में जलीय जीवों की संतति वृद्धि के उदेश्य से राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) द्वारा देश की सभी नदियों से हर साल तीन माह-जून से अगस्त तक बालू की निकासी पर रोक के बावजूद बिहार में सोन नदी से बालू के अवैध उत्खनन का खेल लगातार जारी है। हालाँकि बिहार सरकार के खनन एवं भूतत्व मंत्री सह औरंगाबाद के प्रभारी मंत्री जनक राम के फरमान के बाद औरंगाबाद पुलिस बालू माफियाओं के खिलाफ फुल एक्शन में आ गई है। पुलिस ने बालू के अवैध खनन को रोकने को लेकर बारूण थाना क्षेत्र में सोन नद के इलाके में बड़ी कार्रवाई की हैं। पुलिस कप्तान कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया कि बुधवार की रात गुप्त सूचना मिली कि बारून थाना क्षेत्र में सोन नद में बालू माफियाओं द्वारा रात के अंधेरे में बालू की अवैध तरीके से निकासी की जा रही है।


इस सूचना पर उन्होंने अपर पुलिस अधीक्षक अभियान मुकेश कुमार के नेतृत्व में एक स्पेशल एक्शन टीम गठित की। टीम को तत्काल कार्रवाई करने का आदेश दिया गया। आदेश के आलोक में टीम ने खनन विभाग के साथ सोन नद के इलाके में विभिन्न बालू घाटों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की। छापेमारी की कार्रवाई से बालू माफियाओं में हड़कंप मच गया। हालाँकि बालू माफिया वाहनों को छोड़कर रात के अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले। इस दौरान सोन नद के विभिन्न बालू घाटों से 43 ट्रक, दो पोकलेन, दो जेसीबी, दो कार, एक स्कोर्पियो एवं सात बाइक जब्त किया गया। साथ ही मौके से बालू के अवैध खनन में लिप्त तीन लोगो को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार लोगो में रोहतास जिले के डेहरी थाना के पाली रोड निवासी हिमांशु राज, बारूण थाना के सहसपुर का संजीत कुमार एवं करम किला निवासी सुधीर कुमार सिंह शामिल है। इस मामले में डीएम सौरभ जोरवाल एवं एसपी ने बारूण पुलिस को बालू माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। 

एसपी ने बताया कि सोन नद से बालू की अवैध निकासी रोकने के लिए नियमित रूप से कार्रवाई की जा रही है। पुलिस की कार्रवाई से बालू माफियाओं में हड़कंप मचा है। इस मामले में बारूण थाना में भादवि की धारा 379, 411, एमएमडीआर एक्ट 1957 की धारा- 04/21, बिहार समानुदान खनिज, अवैध खनन भडारण, परिवहन नियमावली-2019 के नियम 11/43, इसी नियमवाली की यथा संशोधित नियमावली 2021की धारा-56 के तहत काण्ड संख्या-285/ 22 दर्ज किया गया है। प्राथमिकी में गिरफ्तार तीनों को नामजद एवं अन्य अज्ञात लोगो को अरोपी बनाया गया है। बारूण पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर जब्त वाहनों के मालिको, चालक, सह चालक एवं अवैध खनन में संलिप्त गिरफ्तार लोगो के अलावा अन्य लोगो का भी पता लगा रही है। पुलिस की छापेमारी टीम में बारूण थानाध्यक्ष कमलेश पासवान, एनटीपीसी खैरा थानाध्यक्ष मनोज कुमार, नरारी कला खुर्द थानाध्यक्ष वीरेंद्र कुमार एवं बड़ेम ओपी थानाध्यक्ष धनंजय कुमार अपने-अपने बल के साथ शामिल थे। गौरतलब है कि हाल में ही यहां एक प्रेसवार्ता में खनन मंत्री जनक राम ने सीधे तौर पर अधिकारियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा था कि बालू के अवैध खनन पर हर हाल में रोक लगाये अन्यथा सरकार संबंधित अधिकारियों के खिलाफ सख्त एक्शन लेगी। औरंगाबाद पुलिस की इस बड़ी कार्रवाई को मंत्री की चेतावनी से ही जोड़कर देखा जा रहा है।

औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News