BIHAR NEWS: राजनीति का रंग: तेज-ओसामा की मुलाकात के बाद गरमाई सियासत, बोले सलीम- घड़ियाल आंसू बहाने से क्या फायदा? जनता देगी जवाब

BIHAR NEWS: राजनीति का रंग: तेज-ओसामा की मुलाकात के बाद गरमाई सियासत, बोले सलीम- घड़ियाल आंसू बहाने से क्या फायदा? जनता देगी जवाब

पटना: राजद के पूर्व सांसद बाहुबली शहाबुद्दीन की मौत के 13 दिन बाद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शहाबुद्दीन के पुत्र ओसामा से हुई मुलाकात के बाद सूबे में राजनीति का तापमान गर्म हो गया है। मुलाकात के बाद विभिन्न दलों ने अपने अपने बयानों के तीर को छोडना शुरू कर दिया है। 

ज्ञात हो कि गत एक मई को शहाबुद्दीन की मौत के करीब दो सप्ताह के बाद 13 मई को तेजप्रताप यादव ने ओसामा से उनके गांव प्रतापपुर में मुलाकात की। तेजप्रताप लालू प्रसाद के परिवार से पहले ऐसे व्यक्ति हैं, जिन्होंने ओसामा से मिलकर उनको सांत्वना दी। उन्होंने ओसामा से मुलाकात के बाद नाश्ता भी किया। 


इधर इस मुलाकात के बाद हम पार्टी के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने तंज कसते हुए कहा है कि आखिर तेजस्वी यादव क्यों नहीं जा रहे शहाबुद्दीन के परिवार से मिलने? तेजस्वी ने क्या पाप किया है कि ओसामा से मुंह छुपा रहे हैं? उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनता दल के नेता कितना भी डैमेज कंट्रोल कर लें, उनकी हकीकत दुनिया जान चुकी है। 

वहीं राजद से इस्तीफा दे चुके विधान परिषद के पूर्व उपसभापति सलीम परवेज ने भी मुलाकात के प्रश्न पर कहा कि जब शहाबुद्दीन अस्पताल में भर्ती थे, उनके परिवार पर दुखों का पहाड़ टूटा हुआ था उस समय जब लालू परिवार ने उनका साथ नहीं दिया तो अब घड़ियाली आंसू बहाने से क्या फायदा? किसी के आने जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता है। उन्होंने यह भी कहा कि शहाबुद्दीन का ब्रटेल मर्डर हुआ है। वो इसकी जांच के लिए राज्यपाल व राष्ट्रपति को पत्र लिखेंगे और मुलाकात भी करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि समय आने दीजिए, शहाबुद्दीन साहेब का पूरा समाज जवाब देगा। जनता कोई बात बोलती नहीं, जवाब देती है। लालू परिवार की तरफ से शहाबुद्दीन को देखने के लिए दिल्ली में पांच किलोमीटर के दायरे में रहने के बाद भी कोई नहीं आया, न ही अंतिम संस्कार में कोई आया। अब 12 दिन के बाद आंसू बहाने निकले हैं। घड़ियाल भी शरमा रहा होगा।

Find Us on Facebook

Trending News