पटना में भीड़भाड़ वाले तीन स्थानों का यह है रियलिटी चेक : भीड़ के आगे कोरोना गाइडलाइन की उड़ रही धज्जियां, न मास्क, न महामारी का भय

पटना में भीड़भाड़ वाले तीन स्थानों का यह है रियलिटी चेक : भीड़ के आगे कोरोना गाइडलाइन की उड़ रही धज्जियां,  न मास्क, न महामारी का भय

PATNA : कोरोना संक्रमण का ग्राफ पटना समेत बिहार में पूरी तेजी से फैल रहा है. सरकार कोरोना से जंग को जीतने के लिए कवायद तेज कर दी है. हर विभाग कोरोना को हराने में अपने-अपने तरीके से सहयोग कर रहा है, लेकिन जब बात करें सार्वजनिक स्थानों की तो वहां सारे नियम और गाइडलान की धज्जियां उड़ रही है. प्रभात खबर के संवाददाता ने गुरुवार को पटना के तीन सार्वजनिक स्थलों की पड़ताल की तो नजारा बहुत भयावह दिखा. न मास्क, न डिस्टैंस और न ही कोरोना का डर. ऐसे में कैसे जीतेंगे कोरोना से जंग ?

1. खेतान मार्केट

बुधवार को रामनवमी के चलते खेतान मार्केट बंद होने से गुरुवार को इतनी भीड़ उमड़ पड़ी की वहां घंटों जाम लग गया. मार्केट के दुकान से लेकर बाहर फुटपाथ पर न तो दुकानदार और न ही ग्राहकों को सोशल डिस्टैंसिंग की चिंता दिखी. भीड़ के आगे कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ती रही. खेतान मार्केट में ज्यादातर लोग व दुकानदार ऐसे दिखें, जिनके चेहरे पर मास्क नहीं थे. भीड़ इतनी अधिक की पैदल चलना भी दुश्वार है.

2. बस स्टैण्ड

बस स्टैंड जहां बिहार व अन्य राज्यों से लोग पहुंच रहे हैं. लेकिन कोरोना संक्रमण फैलाने में ये भी पीछे नहीं है. यहां पर भी यात्री लापरवाह बने हुए हैं. यात्री के साथ-साथ बस ड्राइवर, कंडक्टर या फिर कोई स्टाफ सभी केवल पैसेंजर बैठाने के धुन में रहते हैं न तो इन्हें कोरोना संक्रमण का डर है और न ही सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन पालन करने का फिक्र. स्थिति ऐसी है कि पैसेंजर बैठाने के लिए आपस में ही कंडक्टर लड़ जा रहे हैं. स्टैण्ड के अंदर बगैर मास्क के आपकों यात्रियों की भारी भीड़ खुलेआम दिख जायेगी. हाजीपुर से पटना पहुंची मानवी कुमारी बताती हैं कि बस में न तो ड्राइवर मास्क पहन रहा है और न ही पैसा लेने वाला कंडक्टर. यात्री को भी ठुस-ठुस कर बैठाया जा रहा है. बस स्टैण्ड से लेकर गाय घाट तक के लोकल यात्रियों को भी बस में बैठा लिया जा रहा है.

3. सब्जी मंडी

क्या सिर्फ शाम से छह से सुबह के पांच बजे तक कोरोना फैलने का डर है? यह सवाल उन लोगों से हैं जो खरीदारी की आर में लापरवाह बने हुए हैं. भीड़ की एक और तस्वीर सब्जीमंडी की है. राजेंद्र नगर सब्जी मंडी और मीठापुर सब्जी मंडी में भी लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है. सुबह से लेकर शाम तक किसी भी वक्त जाइए भीड़ में आपकों कमी नहीं मिलेगी. ये भीड़ नाइट कर्फ्यू के सारे प्रभाव को खत्म कर रहा है. रात में कुछ लोगों को रोकने के लिए पुलिस प्रशासन की सारी टीम लग रही है लेकिन जब सब्जी मंडियों की बात करें तो दिन से ही लोग बगैर मास्क व सोशल डिस्टैंस के खरीदारी कर रहे, जिन्हें न तो कोई रोकने वाला है और न ही समझाने वाला.

क्या कहते हैं पटना के डीएम

खेतान मार्केट में एक ही जगह काफी सारी दुकानें होने की वजह से भीड़ लगती है. जहां-जहां भीड़ लग रही है उन स्थानों की समीक्षा की जा रही है. भीड़ कम करने के लिए स्ट्रैटजी तैयार किया जा रहा है. वैसे अल्टरनेट दुकानें खुलने से काफी हद तक भीड़ कम हुई है. लेकिन अब भी कई जगहों पर भीड़ लग रही है. लोगों को भी समझना होगा. बहुत जरूरी कामों के लिए ही लोग बाहर निकले. - चंद्रशेखर सिंह, डीएम, पटना

Find Us on Facebook

Trending News