BIHAR NEWS: सगुनी सरपंच की गिरफ्तारी का विरोध, पुलिस पर फर्जी मुकदमा दर्ज कर देल भेजने का लगा आरोप, जानें पूरा मामला

BIHAR NEWS: सगुनी सरपंच की गिरफ्तारी का विरोध, पुलिस पर फर्जी मुकदमा दर्ज कर देल भेजने का लगा आरोप, जानें पूरा मामला

CHHAPRA: सारण (छपरा) जिले के परसा प्रखण्ड के सगुनी पंचायत की सरपंच की गिरफ्तारी का विरोध बढ़ता ही जा रहा है। लोगों का आरोप है कि फर्जी मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेजा गया है, जो कहीं से भी उचित नहीं है। इसको लेकर जन आंदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय (NAPM) ने उनको तत्काल रिहा करने, दोषी पुलिस पदाधिकारियों पर तत्काल कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। सन्गठन ने इस आशय का ज्ञापन बिहार के मुख्यमंत्री जो भेजा है। 

विदित हो कि बिंदु देवी को 24 अक्टूबर की देर शाम अंधेरे में परसा थाने की पुलिस अपशब्द बोलते हुए, उनके साथ दुर्व्यहार करते हुए थाने ले गयी। इसके बाद  पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लॉकअप में बन्द कर दिया। 25 अक्टूबर को दोपहर के बाद बिंदु देवी को सीजेएम के सामने लाया गया और छपरा मंडल जेल में शाम में भेज दिया गया है। मामले की शुरुआत बिंदु देवी के दो पाटीदारों (देयाद) के बीच आपसी झगड़ा व मारपीट  से शुरू हुई।  बिंदु देवी मारपीट देख,  बीच - बचाव करते हुए  छुड़ाने लगीं। जिसके बाद दोषी पक्ष को लगा कि यह सही न्याय दिलाने में मदद करेंगी उसी कारण से इनका नाम भी उस मामले में लाने की साजिश शुरू हो गयीं। 

NAPM ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से तीन सूत्रीय मांग किया है जिसमें मले की समीक्षा कराकर तत्काल सरपंच को बिना शर्त रिहा कराने, उनके साथ दुर्व्यवहार करने वाली थाना एसआई रूबी कुमारी और फर्जी मुकदमा दर्ज करने वाले थाना प्रभारी अमरेन्द्र कुमार को बर्खास्त किया जाए। और इस मामले की उच्च स्तरीय जाँच कराकर दोषी उच्च पदाधिकारियों पर भी कार्रवाई की जाए।

Find Us on Facebook

Trending News