सात साल से जिस अंतरराष्ट्रीय अपराधी को NIA नहीं पकड़ सकी, उसे बिहार पुलिस ने 60 दिन में पकड़ लिया, पूरी योजना के साथ किया काम

सात साल से जिस अंतरराष्ट्रीय अपराधी को NIA नहीं पकड़ सकी, उसे बिहार पुलिस ने 60 दिन में पकड़ लिया, पूरी योजना के साथ किया काम

MUZAFFARPUR : मुज़फ़्फ़रपुर पुलिस कप्तान के हिस्से एक और बड़ी कामयाबी आई है । जाली नोट का तस्कर सुधीर कुशवाहा , पिता - शिव शंकर कुशवाहा को बड़ा  जाल बिछा कर गिरफ्तार किया गया । एसएसपी जयंत कांत को मिली गुप्त सूचना पर शुरू की गई  कार्रवाई जिसमें सुधीर जिसके ऊपर  NIA द्वारा 2.5 लाख का इनाम घोषित किया गया था । इनाम घोषित होने के बाद भी शातिर सुधीर कुशवाहा NIA और पुलिस पकड़ से बाहर था । NIA की टीम मुजफ्फरपुर पहुँच गिरफ्तार तस्कर सुधीर कुशवाहा से आगे पूछ ताछ करेगी ।

नेपाल से इंडिया तक इंस्पेक्टर अनिल ने बिछाया जाल 

एसएसपी जयंत कांत को सुधीर कुशवाहा के हर गतिविधि की गुप्त सूचना जब मिलने लगी तो नगर थाना एसएचओ अनिल कुमार को सुधीर के गिरफ़्तारी के लिए लगाया । खबर है करीब 20 दिनों से मुज़फ़्फ़रपुर नगर थाना के एसएचओ अनिल और मोतिहारी जिला बल के एक पुलिस कर्मी मुन्ना नेपाल में भेष बदल कर रह रहे थे । सूचना ये भी है करीब 60 दिन तक पुलिस टीम का आना जाना लगा रहा नेपाल । हालांकि इस दौरान एसएसपी जयंत कांत छुट्टी पर भी रहे तो नेपाल में अपने टीम को मार्गदर्शन करते रहे । इस दौरान सुधीर मुजफ्फरपुर के लिए नेपाल से निकल गया  । अनिल और मुन्ना भी सुधीर के पीछे थे । मुजफ्फरपुर सीमा के आस पास सुधीर की गिरफ़्तारी हो गयी  । गिरफ्तार सुधीर से एसएसपी जयंत कांत ने जब पूछ ताछ किया तो  सुबोध ने कई खुलासे किए हैं ।


NIA और मोतिहारी में दर्ज हुआ मामला तो पहचान बदल बन गया नेपाली नागरिक 

सुधीर कुशवाहा काफी शातिर  रहा है ।  मोतिहारी में नगर थाना कांड संख्या 78/08 में अभियुक्त बना  जब मोतिहारी में दर्ज मामले में UAPA  ACT लगे हुए थे  । जाली नोट के कारोबार करते हुए नेपाल में इसने अपनी  पहचान मजबूत कर ली और भेस  बदल कर नेपाल में रहने लगा ।  NIA के 15/15 कांड में ये फरार हो गया ।

नेपाल में करता था कोयले का कारोबार

 फरार होते हुए इसने नेपाल की नागरिकता लेते हुए अपना नाम बदल कर रहने लगा  और नेपाल में कोयला का कारोबार करने लगा फिर से कोयला के कारोबार में नेपाल में घाटा होने के बाद एक बार फिर जाली नोट के कारोबार को एक्टिवेट करने के लिए मुजफ्फरपुर को अपना ठिकाना बनाने के सोच के कारण मुजफ्फरपुर आ रहा था । इसी दौरान अनिल कुमार नगर इंस्पेक्टर में काफी सक्रियता और गोपनीयता के साथ कार्य करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया  ।

सुधीर कुशवाहा ने कई राज एसएसपी जयंत कांत के सामने खोले हैं । खबर है NIA की टीम भी मुजफ्फरपुर आएगी और आगे की कार्रवाई करेगी  । वही मोतिहारी में भी पुराने मामले के फाइल को खोजने में जुट गयी है पुलिस टीम ।

Find Us on Facebook

Trending News