प्रशांत किशोर पैसे लेकर राजनीतिक दलाली करने वाला भाड़े का टट्टू, बिहार में मुखिया चुनाव जीतने की हैसियत भी नहीं...

प्रशांत किशोर पैसे लेकर राजनीतिक दलाली करने वाला भाड़े का टट्टू, बिहार में मुखिया चुनाव जीतने की हैसियत भी नहीं...

PATNA: बिहार बीजेपी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर प्रशांत किशोर की टिप्पणी को लेकर करारा पलटवार किया है। बिहार बीजेपी के प्रवक्ता निखिल आनंद ने प्रशांत किशोर को पैसे लेकर राजनीतिक दलाली करने वाला भाड़े का टट्टू बताया है। उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर की बिहार में राजनीतिक हैसियत मुखिया- सरपंच का चुनाव जीतने की भी नहीं है।

निखिल आनंद ने कहा कि प्रशांत किशोर की गृहमंत्री अमित शाह पर टिप्पणी शर्मनाक, अशोभनीय, अमर्यादित व अराजनीतिक है और बर्दाश्त के बाहर है। प्रशांत का व्यवहार तनिक भी राजनीतिक नहीं बल्कि पूर्णतः व्यवसायिक है। उन्होंने आगे कहा कि प्रशांत न सिर्फ जेडीयू के शीर्ष नेतृत्व के निर्णय के खिलाफ बल्कि एनडीए गठबंधन हितों के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर रहे हैं।  इससे पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के बारे में अपमानजनक बयान दिया था जिसका हमने कड़ा प्रतिवाद किया था। 

निखिल आनंद ने कहा कि प्रशांत किशोर पैसे लेकर राजनीतिक दलाली करने वाला भाड़े का टट्टू है जिसकी बिहार में राजनीतिक हैसियत मुखिया- सरपंच का चुनाव जीतने की भी नहीं है। क्या वे जेडीयू में खुद को राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार और उसके बाद आरसीपी सिंह, ललन सिंह व वशिष्ठ नारायण सिंह से भी बड़े नेता समझने लगे हैं?" 

बिहार भाजपा प्रवक्ता ने प्रशांत किशोर को भारत के संविधान और कानून का सम्मान करने की नसीहत देते हुए कहा कि प्रशांत को पता होना चाहिए कि एनपीआर और सीएए जैसे कानून बनाने का अधिकार केंद्र सरकार को है जो सभी संबंधित राज्यों पर लागू होता है। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट ने मामला सुनने के लिए स्वीकार कर लिया है तो अब उन्हें अनर्गल बयानबाजी करने की बजाय अपनी बात हलफ़नामा दायर कर कोर्ट में कहनी चाहिए। लेकिन उनके बयानों से ऐसा प्रतीत होता है कि उनका मकसद पैसे लेकर किसी खास राजनीतिक समूह के पक्ष में प्रोपोगंडा करना है।


Find Us on Facebook

Trending News