रक्तरंजित पंचायत चुनाव : परिणाम आते ही बढ़ी हिंसक घटनाएं, कोढ़ा क्षेत्र में बाप-बेटे को पीटा, मनसाही में शख्स को जलाने की कोशिश की

रक्तरंजित पंचायत चुनाव : परिणाम आते ही बढ़ी हिंसक घटनाएं, कोढ़ा क्षेत्र में बाप-बेटे को पीटा, मनसाही में शख्स को जलाने की कोशिश की

KATIHAR: कटिहार में पंचायत चुनाव के परिणाम के बाद अब हिंसक साइड इफेक्ट सामने आने लगा है। पंचायत के विकास की उम्मीद को लेकर कई प्रखंडों में लोगों ने अपने प्रत्याशियों का चुनाव कर लिया है जबकि अब भी कई पंचायतों में चुनाव होना बाकी है। ऐसे में जिले से तीन ऐसी घटनाएं आई है, जो चुनाव परिणाम के बाद बढ़ती हिंसा को लेकर प्रशासन की व्यवस्था सवाल खड़े कर रही हैं। हालांकि पुलिस सभी घटनाओं में कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दे रही है। पढ़ें पंचायत चुनाव के परिणाम के बाद बढ़ती हिंसा की घटनाओं से जुड़े हालात पर एक रिपोर्ट।

चुनावी रंजिश में समर्थक बने निशाना

कटिहार का कोढ़ा, मनसाही और अब हसनगंज प्रखंड पंचायत चुनाव के परिणाम के बाद हिंसा का गवाह बना है। तीनों मामलों में पंचायत चुनाव से जुड़े परिणामों के बाद एक पक्ष द्वारा दूसरे पक्ष पर जानलेवा हमला करने का मामला सामने आया है। पहली घटना कोढ़ा थाना क्षेत्र के उत्तरी सिमरिया पंचायत से जुड़ी है, जब दो मुखिया प्रत्याशी के बीच चुनावी रंजिश के कारण एक दूसरे के समर्थक हमला कर दिया। दरअसल, पूर्व मुखिया अनारूल जब पंचायत चुनाव हार गए, तो इसका ठीकरा मुखिया प्रत्याशी नजरुल पर फोड़ते हुए अपने समर्थक नजरुल और उसके बेटे की पिटाई कर गंभीर रूप से घायल कर दिया है। 

पेट्रोल छिड़कर जलाने की कोशिश

जबकि दूसरा घटना मनसाही प्रखंड से जुड़ी है, जहां वार्ड सदस्य संजय सिंह के पक्ष में वोट नहीं देने पर वार्ड सदस्य और उनके समर्थक नरेश साह को पेट्रोल छिड़क कर जिंदा जलाने की कोशिश की गयी है। इस हिंसक औऱ हैवानियत की घटना को लेकर पीड़ित पक्ष जहां डरा-सहमा है, वहीं पुलिस मामले में कड़ी कार्रवाई करने की बात कह रही है।

मुखिया को समर्थन नहीं दिया तो हाथ तोड़े

वहीं अब तीसरी घटना हसनगंज प्रखंड के सामने आयी है। जहां नवनिर्वाचित मुखिया रुस्तम ने चुनाव में उनका समर्थन नहीं करने और विपक्ष के प्रत्याशी को वोट देने के मामले में अजमल की बुरी तरह पिटाई करते हुए उसके दोनों हाथ तोड़ दिए हैं। जबकि उनके घर के लोगों को जान से मारने की धमकी भी दी गई है। जानलेवा हमले और धमकी मिलने की वजह से पूरा परिवार दहशत में है और हसनगंज प्रखंड के अपने गांव से बाहर भागा-भागा फिर रहा है।

तीन में से दो मामले में पुलिस के हाथ खाली

तीनों मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने कहा कि मनसाही प्रखंड से जुड़े जिंदा जलाने के मामले में तीन आरोपियों में से एक की गिरफ्तारी हुई है। जबकि कोढ़ा एवं हसनगंज प्रखंड के मामले में अब तक पुलिस के हाथ खाली हैं। जल्द ही इन सभी मामलों में भी आरोपियों की गिरफ्तारी किया जाएगा। आगे पुलिस पंचायत परिणाम के बाद बढ़ती हिंसा को देखते हुए हालात पर और गहराई से नजर बनाया हुआ है।

पंचायत के विकास को लेकर पंचायत चुनाव बेहद अहम हैं लेकिन चुनावी नतीजा आते ही लोकतंत्र के इस छोटे फॉर्मेट में जनता के सुख-दुख में शामिल होते हुए विकास धर्म पालन करने के दावा करने वाले प्रतिनिधि और उनके समर्थक अगर इस तरह बेलगाम हो जाए, तो पुलिस को एक्शन मोड में आना चाहिए, नहीं तो हिंसा का यह सिलसिला आगे समाज को और जख्म पहुंचाएगा।

कटिहार से संवाददाता श्याम की खास रिपोर्ट।

Find Us on Facebook

Trending News