BREAKING NEWS : दस लाख फिरौती देने के बाद भी अपहृत लोजपा नेता की हत्या, इलाके में तनाव का माहौल

BREAKING NEWS :  दस लाख फिरौती देने के बाद भी अपहृत लोजपा नेता की हत्या, इलाके में तनाव का माहौल

PURNIA : पूर्णिया से अपहृत लोजपा नेता अनिल उरांव की हत्या कर दी गई है। जिले के केनगर थाना क्षेत्र के झुंनी इस्तम्बरार पंचायत के डंगरहा गांव से उनकाशव बरामद किया गया है। जिसके बाद से यहां तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गया है। हत्या की इस घटना के बाद लोगों का आक्रोश भड़क गया है और सड़क पर उतरकर उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया है। फिलहाल पुलिस पूरी स्थिति को नियंत्रित करने में जुटी है।

अपने नेता की हत्या के बाद प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए लोजपा के कार्यकारी अध्यक्ष राजू तिवारी व प्रदेश प्रवक्ता कृष्णा सिंह कल्लू ने कहा कि बिहार में अपराधियों का राज हो गया है। अब तो अपराधी अपहरण कर फिरौती भी ले रहे और हत्या भी कर दे रहे हैं। राजू तिवारी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से परिजन को 50 लाख की आर्थिक मदद और सरकारी नौकरी देने की मांग की है।

गुरुवार को हुआ था अपहरण, दस लाख की फिरौती की मांग  

बीते गुरुवार को शहर से अनिल उरांव का अपहरण कर लिया गया. उसके बाद अपहरणकर्ताओं ने ₹10 लाख रुपये की फिरौती मांगी. शुक्रवार को उन्हें ₹10 लाख रुपये दे भी दिये गए इसके बाद अपहरणकर्ताओं ने कहा कि आधा घंटा में अनिल उरांव को छोड़ दिया जाएगा. लेकिन अपहरणकर्ताओं ने उन्हें रिहा करने की जगह उनकी हत्या कर दी है और शव को फेंक दिया। 

गौरतलब है कि अनिल उरांव दो बार कटिहार के मनिहारी से लोजपा से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं. वह लोजपा के आदिवासी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष भी हैं. उनके हत्या की सूचना से जहां परिजनों में कोहराम मचा है, वहीं समर्थक काफी आक्रोशित हैं. अनिल उरांव का घर पूर्णिया कोर्ट स्टेशन के बगल में जेपी नगर में है. उनके पिता जे पी उरांव भी आदिवासियों के बड़े नेता थे. अनिल उरांव की बहन सीमा उरांव  पूर्व में बिहार  महिला आयोग के सदस्य थे. सीमा उरांव ने ही  परसो शाम में  खजांची हाट थाना में अनिल उरांव के अपहरण की लिखित शिकायत की थी  इसके बावजूद अभी तक बरामद  नहीं  होने से लोगों में काफी नाराजगी है. 


Find Us on Facebook

Trending News