आइए, मशीन लगाइए और उत्पादन शुरू कीजिए, छोटे उद्यमियों के लिए खुद शेड का निर्माण कराएगी नीतीश सरकार, हो गया बड़ा फैसला

आइए, मशीन लगाइए और उत्पादन शुरू कीजिए, छोटे उद्यमियों के लिए खुद शेड का निर्माण कराएगी नीतीश सरकार, हो गया बड़ा फैसला

'प्लग एन्ड प्ले' छोटे उद्यमियों के लिए लिया गया बड़ा निर्णय, पांच जिलों पर 75 करोड़ करेंगे खर्च

PATNA : बिहार में उद्योंगों की स्थापना को लेकर इस बार नीतीश सरकार ज्यादा गंभीर नजर आ रही है। यही कारण है कि उद्यमियों को आकर्षित करने के लिए लगातार बड़े फैसले लिए जा रहे हैं। जहां कुछ दिन पहले नई टेक्सटाइल्स और चमड़ा नीति को लागू किया गया। वहीं अब सरकार ने छोटे उद्यमियों के लिए भी बड़ा निर्णय लिया है। नीतीश सरकार ऐसे छोटे उद्यमियों को जल्द से जल्द उत्पादन शुरू करने के लिए खुद शेड निर्माण करने का फैसला किया है। इन बने बनाए शेड में उद्यमियों को सिर्फ अपने मशीन स्थापित करने होंगे और उत्पादन शुरू करना होगा।

पांच जिलों में होगा निर्माण

सरकार प्लग एंड प्ले के तहत प्री-फेब्रीकेटेड शेड होगा। एक शेड के निर्माण  में करीब  15 करोड का खर्च होगा। फिलहाल सरकार ने पांच जिलों में ऐसे शेड का निर्माण किया जाएगा। जहां उद्यमी सिर्फ उपकरण लगाकर फैक्ट्री शुरू कर सकेंगे। जमीन से लेकर बिजली-पानी तक की व्यवस्था सरकार की है। इससे राज्य में औद्योगिक विकास की रफ्तार को बढ़ाया जा सकेगा।

इस योजना के तहत भागलपुर के अलावा मुजफ्फरपुर, हाजीपुर, चंपारण और बिहटा में शेड का निर्माण होगा। शेड का निर्माण छह महीने  में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है । निर्माण के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट अथॉरिटीज (आईडीए) ने 75 करोड़ रुपये की टेंडर निकाली है। इसका 5 जुलाई को टेक्निकल बीड खुलेगा। जबकि कार्य एजेंसियों की प्री-बीड मीटिंग 28 जून को पटना में बुलाई गई है।

इन उद्योगों को कर सकते हैं शुरू

जिला उद्योग केंद्र की मानें तो  प्लग एन्ड शेड निर्माण का उद्देश्य वैसे उद्यमियों की मदद करना है जो जमीन न होने के कारण फैक्ट्री नहीं लगा पा रहे हैं। अब उन्हें जमीन के साथ-साथ बिजली भी मिलेगी। उद्यमी  उपकरण व मैनपावर साथ लाएं और मशीनरी के लिए प्लग ऑन करें। उनकी फैक्ट्री अपने आप चलने लगेगी। यहां कपड़ा  निर्माण, पैकेजिंग मैटेरियल, सैनेटरी पैड्स आदि छोटे उद्यम को बढ़ावा दिया जाएगा।

बिहार में कहां बनेगा शेड

1. को-ऑपरेटिव स्पीनिंग मिल कैंपस, भागलपुर।

2. कुमारबाग इंडस्ट्रियल एरिया, प. चंपारण- फेज-2।

3. बेला इंडस्ट्रियल एरिया, मुजफ्फरपुर।

4. हाजीपुर इंडस्ट्रियल एरिया, हाजीपुर, वैशाली।

5. सिकंदरपुर इंडस्ट्रियल एरिया, बिहटा, पटना।



Find Us on Facebook

Trending News