प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना इलाज का खर्च तय नहीं कर पा रही है कमेटी, फीस को लेकर 2 फाड़ हुए कमेटी के मेंबर

प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना इलाज का खर्च तय नहीं कर पा रही है कमेटी, फीस को लेकर 2 फाड़ हुए कमेटी के मेंबर

पटना: बिहार में फैलते कोरोना संक्रमण के बीच सरकार ने यह फैसला किया है कि अब प्राइवेट अस्पतालों में भी कोरोना का इलाज होगा.लेकिन प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के इलाज में अस्पताल कितनी फीस लेंग इसको लेकर अभी तक फैसला नहीं हो पाया है.

सोमवार को इसको लेकर बैठक होने वाली थी लेकिन वो बैठक नहीं हो पाई. प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए बनाई गई कमेटी के कुछ सदस्य आयुष्मान भारत योजना के तहत निर्धारित दर और कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज के उपचार पर सहमत नहीं हैं. कमेटी के इन सदस्यों का कहना है कि प्राइवेट अस्पतालों का इलाज के दौरान इससे ज्यादा खर्च होगा.

कमेटी के ज्यादातर सदस्यों का कहना है कि कोरोना आयुष्मान भारत योजना के तहत जो दर लागू है उसे ही लागू किया जाए. इसके अलावा दवा और जांच के पैसे मरीजों से अलग लिए जा सकते हैं. इसके साथ ही अगर बार बार पीपीई किट की जरूरत होती है तो इसका पैसा भी जोड़ा जा सकता है.फीस को लेकर अंतिम फैसला डीएम के स्तर से होना है. 

Find Us on Facebook

Trending News