बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • पटना में नियोजित शिक्षकों का बवाल, के.के पाठक का दिल्ली दौरा, शिक्षा मंत्री और सीएम के प्रधान सचिव का फोन नहीं उठा रहे ACS, जानिए क्या है पूरा मामला
  • पटना में नियोजित शिक्षकों का बवाल, के.के पाठक का दिल्ली दौरा, शिक्षा मंत्री और सीएम के प्रधान सचिव

  • पटना में आज नियोजित शिक्षक करेंगे आंदोलन, सक्षमता परीक्षा के पहले एडमिट कार्ड जला करेंगे विरोध
  • पटना में आज नियोजित शिक्षक करेंगे आंदोलन, सक्षमता परीक्षा के पहले एडमिट कार्ड जला करेंगे विरोध

  • मोतिहारी में एचएम और डीपीएम के बीच जमकर चलें लात घूंसे, वीडियो सोशल मीडिया में हुआ वायरल
  • मोतिहारी में एचएम और डीपीएम के बीच जमकर चलें लात घूंसे, वीडियो सोशल मीडिया में हुआ वायरल

  • बांका में अवैध खनन रोकने गए दारोगा और सिपाही पर बालू माफियाओं ने कुल्हाड़ी से किया, जब्त बालू लदे ट्रैक्टर लेकर हुए फरार
  • बांका में अवैध खनन रोकने गए दारोगा और सिपाही पर बालू माफियाओं ने कुल्हाड़ी से किया, जब्त बालू

  • गया में अनियंत्रित वाहन की चपेट में आने से सरकारी शिक्षक की हुई मौत, परिजनों में मचा कोहराम
  • गया में अनियंत्रित वाहन की चपेट में आने से सरकारी शिक्षक की हुई मौत, परिजनों में मचा कोहराम

  • पुण्यतिथि पर याद किए गए अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के भूतपूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि नंदन सहाय, रविशंकर प्रसाद और आरके सिन्हा ने दी श्रद्धांजलि
  • पुण्यतिथि पर याद किए गए अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के भूतपूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि नंदन सहाय, रविशंकर प्रसाद

  • खगड़िया में रंग लायी जदयू विधायक डॉ. संजीव की पहल, 9 करोड़ की लागत से 100 एकड़ जमीन होगा विकसित, उद्योग लगाने के लिए होंगे आवंटित
  • खगड़िया में रंग लायी जदयू विधायक डॉ. संजीव की पहल, 9 करोड़ की लागत से 100 एकड़ जमीन

  • सीएम योगी की कार के आगे चल रही एंटी डेमो गाड़ी पलटी, हादसे में पांच पुलिसकर्मी सहित नौ लोग बुरी तरह से चोटिल
  • सीएम योगी की कार के आगे चल रही एंटी डेमो गाड़ी पलटी, हादसे में पांच पुलिसकर्मी सहित नौ

  • हथुआ राज के महाराजा मृगेंद्र प्रताप शाही को मिली मानद डॉक्टरेट की उपाधि, थाईलैण्ड के प्रसिद्ध विश्वविद्यालय ने सामाजिक कार्यों के लिए किया सम्मानित
  • हथुआ राज के महाराजा मृगेंद्र प्रताप शाही को मिली मानद डॉक्टरेट की उपाधि, थाईलैण्ड के प्रसिद्ध विश्वविद्यालय ने

  • कोटा में नीट की तैयारी कर रही छात्रा ने की आत्महत्या की कोशिश, समय रहते पहुंच गई मां
  • कोटा में नीट की तैयारी कर रही छात्रा ने की आत्महत्या की कोशिश, समय रहते पहुंच गई मां

रेप का झूठा मुकदमा दर्ज कराने वाली औरत पर कोर्ट ने लगाया जुर्माना,कहा,पीड़ित को दिया जाय आधा पैसा

रेप का झूठा मुकदमा दर्ज कराने वाली औरत पर कोर्ट ने लगाया जुर्माना,कहा,पीड़ित को दिया जाय आधा पैसा

DESK: एक महिला को एक व्यक्ति पर रेप का झूठा मुकदमा दर्ज करवाना महंगा पड़ा है । रेप के मामले में झूठा मुकदमा लिखवाने के मामले को लेकर कोर्ट ने वादी महिला पर ₹20000 का जुर्माना लगाया है। साथ ही यह भी आदेश दिया है कि जुर्माने से प्राप्त होने वाली राशि में से 50 फीसदी राशि पीड़ित को दिए जाएं।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में रेप के मामले में झूठी रिपोर्ट लिखवाने को लेकर एक बड़ा मामला सामने आया है। जैसे ही जांच के बाद यह बात सामने आई कि रेप का आरोप बिल्कुल निराधार है तो कोर्ट ने मुकदमा वादी पर ₹20000 का जुर्माना लगा दिया ।इतना ही नहीं कोर्ट ने आदेश देते हुए अभी कहा कि जुर्माने से प्राप्त होने वाली धनराशि में से 50 फ़ीसदी  पीड़ित को दिए जाएं।

विशेष पॉक्सो एक्ट कोर्ट के विशेष लोक अभियोजक उत्कर्ष के अनुसार गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर क्षेत्र स्थित एक मकान में महिला अपने परिवार के साथ किराए पर रहती थी। बताया जा रहा है कि उसी मकान में रजत नाम का एक व्यक्ति ही किराए पर रहता था।महिला के द्वारा 6 अक्टूबर 2020 को किराए पर रहने वाले रजत पर यह आरोप लगाया गया कि रजत ने उसकी बेटी के साथ रेप किया है। प्रथम दृष्टया महिला की बात को सत्य मानते हुए पुलिस ने रजत को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया ।इस मामले में रजत 3 महीने तक जेल में बंद रहा। उसके बाद उसे जमानत मिल गई

इसके बाद मामले की सुनवाई पॉक्सो कोर्ट में निरंतर चलने लगे। अंतिम सुनवाई न्यायाधीश महेंद्र श्रीवास्तव के कोर्ट में हुई। सुनवाई के दौरान साक्ष्यों के आधार पर न्यायाधीश ने इस रेप की घटना को झूठा पाया और रजत को बरी कर दिया।

वही विशेष पॉक्सो एक्ट में झूठा मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला पर कि ₹20000 का जुर्माना लगाया साथ में यह भी आदेश दिया कि जुर्माने से प्राप्त होने वाली धनराशि में से 50 प्रतिशत पीड़ित को दिया जाए। अगर झूठा मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला जुर्माना नहीं देती है तो उसे 15 दिन साधारण कारावास की सजा भुगतना होगा।