बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • पटना के मसौढ़ी में जमीन खरीद बिक्री डेवलर्स कंपनी के गार्ड की हत्‍या, खेत में मिला शव
  • पटना के मसौढ़ी में जमीन खरीद बिक्री डेवलर्स कंपनी के गार्ड की हत्‍या, खेत में मिला शव

  • प्राइवेट स्कूलों की तरह सरकारी विद्यालयों के छात्रों को भी मिलेगा स्कूल बैग, वॉटर बोतल, जूते-मोजे, केके पाठक ने कर दी घोषणा
  • प्राइवेट स्कूलों की तरह सरकारी विद्यालयों के छात्रों को भी मिलेगा स्कूल बैग, वॉटर बोतल, जूते-मोजे, केके पाठक

  • बुलेट की चाहत में पत्नी की गला घोंटकर कर दी हत्या, एक साल पहले शादी कर ससुराल आई थी विवाहिता
  • बुलेट की चाहत में पत्नी की गला घोंटकर कर दी हत्या, एक साल पहले शादी कर ससुराल आई

  • बांका में बाइक की टक्कर से सड़क पार कर रहे एक व्यक्ति की हुई मौत :परिजनो में मचा कोहराम
  • बांका में बाइक की टक्कर से सड़क पार कर रहे एक व्यक्ति की हुई मौत :परिजनो में मचा

  • नवादा में ऐतिहासिक होगी तेजस्वी की यात्रा, दो लाख से अधिक लोगों के शामिल का अनुमान
  • नवादा में ऐतिहासिक होगी तेजस्वी की यात्रा, दो लाख से अधिक लोगों के शामिल का अनुमान

  • मुजफ्फरपुर पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय बाइक चोर गिरोह का किया उद्भेदन, 6 चोरों को आधा दर्जन चोंरी की बाइक के साथ किया गिरफ्तार
  • मुजफ्फरपुर पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय बाइक चोर गिरोह का किया उद्भेदन, 6 चोरों को आधा दर्जन चोंरी की बाइक

  • लोकसभा चुनाव को लेकर मुंगेर पुलिस ने शुरू की वारंटियों की धड़पकड़, एक रात में 55 आरोपियों को जेल में डाला
  • लोकसभा चुनाव को लेकर मुंगेर पुलिस ने शुरू की वारंटियों की धड़पकड़, एक रात में 55 आरोपियों को

  • गंगा समेत अन्य नदियों को निर्मल करने और मछली पालन को बढ़ावा देने के लिए रिवर रेचिंग कार्यक्रम,4-4 लाख मछली के बच्चे नदी में डाले गए
  • गंगा समेत अन्य नदियों को निर्मल करने और मछली पालन को बढ़ावा देने के लिए रिवर रेचिंग कार्यक्रम,4-4

  • स्कूल गए 14 वर्षीय छात्र की पिटाई से हुई मौत, परिजनों ने टीचर पर लगाया बेरहमी से पिटने का आरोप
  • स्कूल गए 14 वर्षीय छात्र की पिटाई से हुई मौत, परिजनों ने टीचर पर लगाया बेरहमी से पिटने

  • बिहार क्रिकेट एसोसिएसन के नाम से फर्जीवाड़े में शामिल रहे ओम प्रकाश तिवार को पुलिस  ने किया डिटेन
  • बिहार क्रिकेट एसोसिएसन के नाम से फर्जीवाड़े में शामिल रहे ओम प्रकाश तिवार को पुलिस ने किया

साइबर अपराधियों ने एसपी को भी नही बख्शा, इस तरह उनके नाम पर हो रही है वसूली, एक व्यक्ति ने गंवा दिए अपने रुपए

साइबर अपराधियों ने एसपी को भी नही बख्शा, इस तरह उनके नाम पर हो रही है वसूली, एक व्यक्ति ने गंवा दिए अपने रुपए

AURANGABAD : - साइबर अपराधियों के हौसले इस कदर बुलंद है कि वे खाकी और खादी को भी नही बख्श रहे है। ऐसे ही एक मामले में साइबर ठगो ने औरंगाबाद के पुलिस कप्तान कांतेश कुमार मिश्रा को भी सीधे निशाने पर लिया। एसपी का फेक फेसबुक और व्हाट्सएप अकाउंट बनाया तथा ठगी का गोरखधंधा शुरू किया। साइबर ठगो के जाल में औरंगाबाद का भी एक बंदा फंस गया और उसने ठगो को 20 हजार की रकम भी दे डाली। बाद में मामला पुलिस और खुद एसपी के संज्ञान में आया। 

मामले में 28 सितम्बर को औरंगाबाद के नगर थाना में पुलिस अवर निरीक्षक गुफरान अली के टंकित आवेदन के आधार पर भादवि की  धारा 66, 66(सी), 66(डी) एवं आईटी एक्ट के तहत कांड संख्या- 420/21 दर्ज हुआ। अज्ञात साइबर ठगो को आरोपी बनाया गया। मामले का अनुसंधान शुरु हुआ और आखिरकार मामले में संलिप्त उतर प्रदेश के मथुरा का एक साइबर ठग गिरफ्तार हुआ। पूरे मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया कि औरंगाबाद के एसपी के नाम पर फेक फेसबुक एवं व्हाट्सएप अकाउंट बनाकर अज्ञात साइबर ठग द्वारा 20 हजार की ठगी का अनुसंधान एवं अज्ञात साईबर अपराधी की गिरफ्तारी हेतु अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी गौतम शरण ओमी के नेतृत्व में पुलिस निरीक्षक कांड के अनुसंधानकर्ता सतीश बिहारी शरण, मुफ्फसिल अंचल के पुलिस निरीक्षक अंजनी कुमार, दुर्गेश राम, मदनपुर थानाध्यक्ष संजय कुमार, जिला आसूचना इकाई के प्रभारी गुफरान अली एवं प्रणव कुमार के टास्क टीम के द्वारा कांड के अनुसंधान के क्रम में एक साइबर ठग को मथुरा से गिरफ्तार किया गया। 

यूपी का है ठग

गिरफ्तार ठग सोनु उर्फ सोनु कुमार उतर प्रदेश के मथुरा जिले के गोवर्धन थाना क्षेत्र के देवरस का निवासी है। गिरफ्तार सोनु ने साईबर अपराध को अपना पेशा बताते हुए पुलिस अधीक्षक, औरंगाबाद का फर्जी फेसबुक एवं व्हाट्सएप अकाउंणट बनाकर ठगी करने की बात को स्वीकार किया। उसके पास से तीन स्मार्ट मोबाईल फोन, पांच सिम कार्ड एवं एक आधार कार्ड बरामद किया गया। सभी सिम फर्जी नाम पते पर लिए गए है।    

यह पहला मामला नहीं

 प्रदेश में फेक फेसबुक और व्हाट्स अप एकाउंट के जरिए पैसे वसूलने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले डीजी, एडीजी रैंक के पुलिस अधिकारी और बिहार सरकार के मंत्री, सांसदों के नाम पर पैसे वसूलने की बात सामने आई है। ऐसे में बिना कंफर्म किए किसी के एकाउंट में पैसे भेजने से बचें।