भागलपुर में 20 वर्षों से बंद पड़े आयुर्वेदिक अस्पताल को चालू करने की उठी मांग, ग्रामीणों ने DM को सौंपा ज्ञापन

भागलपुर में 20 वर्षों से बंद पड़े आयुर्वेदिक अस्पताल को चालू करने की उठी मांग, ग्रामीणों ने DM को सौंपा ज्ञापन

भागलपुर. नवगछिया के खगड़ा में स्थित वैकुंठ दातव्य आयुर्वेदिक चिकित्सालय तकरीबन 20 वर्षों से बंद पड़ा है। अस्पताल भवन परिसर की चारदीवारी जर्जर अवस्था में है। यहां न तो डॉक्टर है और न ही दवाइयां है। इसे फिर से चालू करने के लिए ग्रामीणों ने डीएम को आवेदन दिया है।

एक समय यह आयुर्वेदिक अस्पताल खगड़ा ही नहीं इसके आसपास के कई गांव के लोगों के लिए चिकित्सा का केंद्र हुआ करता था। परंतु आज सरकार और प्रशासन की बाट जोह रहा है। इसको लेकर खगड़ा गांव के दर्जनों लोग शुक्रवार को जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन के कार्यालय पहुंचकर अस्पताल के जीर्णोद्धार को लेकर आवेदन दिया।

वहीं जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने आश्वासन दिलाया है कि इस मामले को जल्द से जल्द देखा जाएगा और इस पर अमल किया जाएगा। इस काम के लिए एडीएम को आवेदन फॉरवर्ड कर दिया जा चुका है। उन्होंने कहा कि यह काम एडीएम के तहत होगा, एक करोड़ से कम बजट का काम जिला परिषद करा सकता है, उस पर विचार किया जा रहा है।

वहीं आवेदन देने आए ग्रामीणों का कहना है कि जल्द से जल्द यह आयुर्वेदिक अस्पताल शुरू हो, जिससे आसपास के लोगों को फायदा मिल सके। ग्रामीणों में संजीव कुमार सिंह, अंजनी कुमार के अलावे दर्जनों ग्रामीण शामिल थे।


Find Us on Facebook

Trending News