BIHAR NEWS : पंचायत समिति की बैठक में उप प्रमुख ने खोली शिक्षा विभाग की पोल, एमडीएम में भष्टाचार का लगाया आरोप

BIHAR NEWS : पंचायत समिति की बैठक में उप प्रमुख ने खोली शिक्षा विभाग की पोल, एमडीएम में भष्टाचार का लगाया आरोप

MOTIHARI : मोतिहारी में स्कूल के बच्चों के निवाला में भ्रष्टाचार का मामला थमने का नाम नही ले रहा है। स्कूल में छात्रों की उपस्थिति कम और उपस्थिति पंजी में दोगुना हाजरी बनाकर राशि के बंदरबाट करने के शिक्षा विभाग के खेल का खुलासा हुआ है। जिला के अरेराज प्रखंड के पंचायत समिति की बैठक में उप प्रमुख ने एमडीएम में भारी अनियमितता कर नौनिहालों के निवाला का घोटाला का मुद्दा उठाया। वही मुड़ा पंचायत के समिति सदस्य राकेश सिंह ने उत्क्रमित हाई स्कूल में भारी कुव्यवस्था का मुद्दा उठाया है। बैठक में सिंचाई विभाग सहित बैठक में उपस्थित नही होने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई के लिए डीएम को पत्र भेजने का निर्देश दिया गया। प्रखंड प्रमुख कांति तिवारी ने सदस्यों द्वारा उठाये गए मुद्दा पर त्वरित कार्रवाई का निर्देश बीडीओ व सम्बंधित अधिकारी को दिया।


बता दें की अरेराज प्रखंड कार्यालय के सभागार में मंगलवार को पंचायत समिति की बैठक प्रखंड प्रमुख कांति तिवारी की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में उप प्रमुख माधव सिंह व मुड़ा पंचायत समिति मीरा देवी द्वारा शिक्षा व्यवस्था की बदहाल स्थिति व एमडीएम में भारी घोटाला का मुद्दा उठाया गया। उप प्रमुख ने बताया कि स्कूल भ्रमण में अधिकांश स्कूलों में  उपस्थिति से दोगुनी बच्चों की हाजरी बनाकर एमडीएम में भारी घोटाला किया जा रहा है। वही स्कूल में एमडीएम में बच्चों को मिलने वाले अंडा व मेनू के अनुसार नही देकर राशि का बंदरबाट किया जा रहा है।  वही मुड़ा समिति सदस्य ने झखरा उत्क्रमित हाई स्कूल की स्थिति प्राइमरी विद्यालय से भी बदतर बताया गया।  विद्यालय में बिना शिक्षक के आए ही हाजरी बनाकर वेतन का भुगतान शिक्षा विभाग द्वारा किया जा रहा है, जो गंभीर मामला है। वही चंडी स्थान प्राथमिक विद्यालय 209 को उत्क्रमित कराने का भी प्रस्ताव पारित करने की मांग किया गया।  वही ममरखा पंचायत के वार्ड 01 की सेविका बाहर में रहती है।  उसके बाद भी विभाग की मिलीभगत से पोषाहार उठाव कर गबन करने का मुद्दा सदस्यों ने उठाया।  

पीएचईडी द्वारा दरगाह टोला के पास समय शाम पानी नही देकर मात्र दोपहर में पानी देने का मुद्दा उठाया गया। जबकि सिंचाई विभाग के कनीय अभियंता सहित सूचना के बाद भी चार बैठक में उपस्थित नही होने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई के लिए डीएम को प्रस्ताव भेजने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया। बीडीओ अमित कुमार पांडे ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि अगर किसी वार्ड में नल जल की समस्या है तो वहां के तकनीकी सहायक को सूचना दें। 48 घंटों के अंदर किसी भी तकनीकी गड़बड़ी को ठीक कराया जाएगा।  

साथ ही उन्होंने कहा की प्रत्येक घर में नल जल का उपयोग है। उनसे ₹30 प्रति माह शूल्क के रूप में लेना है। ताकि नल जल का मेंटेनेंस किया जा सके। सड़क पर पानी नहीं गिरे। इसके लिए 10 घरों पर 1 सोखता का निर्माण कराने का प्रावधान है। जिसका प्रस्ताव भी पारित किया गया। वही सीओ पवन कुमार झा ने बताया कि खतियान देखकर लोग रजिस्ट्री कर रहे हैं। जबकि उनके पिता, दादा, परदादा जमीन रजिस्ट्री कर दिए हैं। इससे विरोधाभास पैदा हो रहा है।  इससे बचने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि जमीन की जमाबंदी नंबर जिसके नाम से होगी। उन्हीं के नाम से एलपीसी बनेगा। वही बीडीओ अमित कुमार पण्डेय ने सभी मुद्दा पर त्वरित करवाई का अस्वान समिति सदस्यों की दिया गया। मौके पर एमओ अजियतेंद्र किशोर, कृषि समन्वयक कमलेश कुमार मिश्रा, मनरेगा तकनीकी सहायक नितेश कुमार तिवारी, कोऑर्डिनेटर मिंटू मिश्रा, प्रर्यवेक्षिका पुष्पा कुमारी ,मुखिया चांदसी यादव सहित पंचायत समिति सदस्य आदि उपस्थित थे।  

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News