गया पहुंचे आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव संजय अग्रवाल, देवघाट और सीताकुंड का लिया जायजा, अधिकारियों को दिए कई निर्देश

गया पहुंचे आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव संजय अग्रवाल, देवघाट और सीताकुंड का लिया जायजा, अधिकारियों को दिए कई निर्देश

GAYA : आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव संजय अग्रवाल ने देवघाट एवं सीताकुंड का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान सचिव आपदा प्रबंधन विभाग ने कहा कि गया जिला विस्तृत क्षेत्रफल वाला जिला है, जहां पर आये दिन डूबने एवं अन्य आपदाओं से मृत्यु होने की घटनाएं का मामला सामने आते रहती है। आपदा स्थिति में एस०डी०आर०एफ० की परमानेंट व्यवस्था जिले में अति आवश्यक है, ताकि विभिन्न आपदा से घटित घटनाओं पर त्वरित रूप से कार्रवाई की जा सके। ताकि विधि व्यवस्था की कोई समस्या उत्पन्न ना हो सके। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि गयाजी डैम के निर्माण होने से फल्गु नदी में सालों भर कम से कम 10 से 20 फीट तक पानी का जल स्तर उपलब्ध है। इसके अतिरिक्त जल जीवन हरियाली योजना के तहत कई तालाबों पोखरों की उड़ाही की गई है, जिसमें काफी पानी रहता है।


इन बिंदुओं को देखते हुए सचिव, आपदा प्रबंधन विभाग ने एसडीआरएफ की नाव सहित 25 सदस्यीय  टीम का स्थाई प्रतिनियुक्ति गया जिला में किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इन संबंधित टीमों का दायित्व है कि मगध प्रमंडल स्थित गया ज़िले के साथ साथ औरंगाबाद, जहानाबाद, नवादा, अरवल के क्षेत्रों में भी विभिन्न आपदा की घटना से बचाव हेतु यह एसडीआरएफ की टीम कार्य करेंगे।

इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि गया जिले में तैराकी का प्रशिक्षण कार्य भी प्रारंभ की जा रही है, ताकि अधिक से अधिक लोगों को प्रशिक्षण देकर आपदा के घटनाओं से बचाव किया जा सके।

उन्होंने कहा कि आपदा जोखिम न्यूनीकरण एवं प्रभावी विधि व्यवस्था के संधारण के दृष्टिकोण से जिला में एसडीआरएफ की नाव सहित 25 सदस्यीय स्थाई टीम की प्रतिनियुक्ति की गई है।

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News