इंग्लैंड के पंत ने की रनों की बरसात, चौके-छक्के के साथ तोड़ दिया 120 साल पुराना रिकॉर्ड

इंग्लैंड के पंत ने की रनों की बरसात, चौके-छक्के के साथ तोड़ दिया 120 साल पुराना रिकॉर्ड

DESK : इंग्लैंड के खिलाफ एजबेस्टन में चल रहे पांचवे टेस्ट मैच का पहला दिन पूरी तरह रिषभ पंत के नाम रहा। यहां पंत ने 98 रन पर पांच विकेट खो चुके भारतीय पारी को न सिर्फ संभाला, बल्कि उसके साथ अपना मैदान के चारों तरफ चौके छक्के की बरसात करते हुए टेस्ट क्रिकेट में अपना पांचवां शतक भी पूरा किया। पंत ने इस दौरान इसके बाद पंत ने रवींद्र जडेजा के साथ मिलकर छठे विकेट के लिए 222 रन साझेदारी कर डाली। यह साझेदारी तब टूटी जब 146 रन बनाकर पवेलियन लौटे। 

बना दिए कई रिकार्ड

सिर्फ इतना ही नहीं, पंत ने 89 गेंदों पर शतक लगाकर कई रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिए। पंत पिछले 120 साल में पहले ऐसे खिलाड़ी बन गए हैं, जिन्होंने एजबेस्टन स्टेडियम में सौ गेंदों से भी कम खेलकर अपना शतक पूरा किया है। यह एजबेस्टन के मैदान पर सबसे तेज शतक है। एजबेस्टन में 1902 से क्रिकेट खेला जा रहा है और वहां पंत से पहले तक किसी भी बल्लेबाज ने 100 से कम बॉल में सेंचुरी नहीं लगाई है।  इसके साथ ही पंत मे टेस्ट क्रिकेट में अपने गुरु महेंद्र सिंह धोनी का भी तेज शतक बनाने का 17 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया है। धोनी ने 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ 93 गेंदों पर शतक लगाया था।   


इंग्लैंड के खिलाफ दूसरा शतक

यह पंत के टेस्ट करियर का पांचवां शतक रहा। वहीं, इंग्लैंड के खिलाफ यह उनका तीसरा शतक रहा। इंग्लैंड के खिलाफ इंग्लैंड में यह पंत का दूसरा शतक है। इंग्लैंड में पंत ने पिछला शतक 2018 में केनिंग्टन ओवल में लगाया था। तब उन्होंने 114 रन की पारी खेली थी।  जडेजा और पंत के बीच 222 रन की साझेदारी पांचवें या इससे नीचे के विकेट के लिए इंग्लैंड में टीम इंडिया की ओर से सबसे बड़ी साझेदारी है।

पहले विकेटकीपर, जिसने एशिया के बाहर चार शतक लगाए

पंत एशिया से बाहर टेस्ट में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज बन गए हैं। पंत ने एशिया से बाहर चार शतक लगाए हैं। वहीं, विजय मांजरेकर, अजय रत्रा और ऋद्धिमान साहा ने तीन-तीन शतक लगाए थे। एक कैलेंडर ईयर में दो टेस्ट शतक लगाने वाले भारत के चौथे विकेटकीपर बल्लेबाज हैं। उनसे पहले बुद्धि कुंदरन ने 1964 में, एमएस धोनी ने 2009 में और ऋद्धिमन साहा ने 2017 में ऐसा किया था।

पहले दिन भारत ने सात विकेट गंवाकर 338 रन बनाए। एक वक्त भारत ने 98 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे। शुभमन गिल 17 रन, चेतेश्वर पुजारा 13 रन, हनुमा विहारी 20 रन, विराट कोहली 11 रन और श्रेयस अय्यर 15 रन बनाकर आउट हुए। जिसके बाद पंत और जडेजा ने भारतीय पारी को मुश्किलों से उबार दिया। पहले दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने सात विकेट गंवाकर 338 रन बना लिए हैं। फिलहाल जडेजा 83 रन बनाकर क्रीज पर हैं। मोहम्मद शमी उनका साथ निभा रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News