दुनिया छोड़ने के बाद भी पुनीत राजकुमार रहेंगे याद, दान किए आंखों से चार लोंगों को मिली रोशनी

दुनिया छोड़ने के बाद भी पुनीत राजकुमार रहेंगे याद, दान किए आंखों से चार लोंगों को मिली रोशनी

DESK : कन्नड़ एक्टर पुनीत राजकुमार के निधन के बाद भी उनकी आंखें जीवित हैं। 29 अक्टूबर को दुनिया से रुखसत हुए पुनीत राजकुमार की आंखों से चार लोगों को रोशनी मिली है। नारायण नेत्रालय के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक डॉ. भुजंग शेट्टी ने बताया कि उन्होंने कॉर्निया की मुख्य और गहरी परत को अलग किया। हर आंख का इस्तेमाल दो रोगियों के इलाज के लिए किया गया। जिनमें एक महिला और बाकी तीन पुरुष शामिल थे।

बता दें कि पुनीत अपनी मां की तरह परोपकार के कामों में शामिल रहते थे। इसी वजह से उन्होंने अपनी आंखें दान करने का संकल्प लिया था। पुनीत के  निधन के बाद उनकी आंखों को नारायण नेत्रालय आई हॉस्पिटल को दान कर दिया गया था। जिससे अब चार लोगों की आंखों की बीमार दूर करने में सहायता मिली है। 

कन्नड़ फिल्म एक्टर पुनीत राजकुमार का जिम में वर्कआउट के दौरान दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। हार्ट अटैक के तुरंत बाद पुनीत को बेंगलुरु के विक्रम अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। पुनीत के निधन के बाद राज्य के सभी थिएटर बंद कर दिए गए और कई इलाकों में धारा 144 लागू की गई थी।

पुनीत से चेतन ने भी ली प्रेरणा

कन्नड़ एक्टर चेतन ने अपने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखा कि जब मैं अस्पताल में अप्पू सर के आखिरी दर्शन के लिए गया था, तब डॉक्टरों की एक टीम ने उनके निधन के 6 घंटे के अंदर ऑपरेशन किया और उनकी आंखें निकालीं। अप्पू सर ने भी डॉ. राजकुमार की तरह अपनी आंखें दान की हैं। चेतन ने कहा कि अप्पू सर से प्रेरणा लेकर मैं भी अपनी आंखें दान करूंगा।



Find Us on Facebook

Trending News