12 साल तक ज्वेलरी लौटाने में करते रहे टालमटोल, अब थाने के मालखाने के गायब हो गया, सवालों के घेरे में पटना पुलिस

12 साल तक ज्वेलरी लौटाने में करते रहे टालमटोल, अब थाने के मालखाने के गायब हो गया, सवालों के घेरे में पटना पुलिस

PATNA : आम तौर पर यह माना जाता है कि थाने में अगर कोई सामान जब्त होकर पहुंचता है, तो शायद ही वह कभी सही सलामत वापस मिल पाता है।  हजारों जब्त गाड़ियां थाने में पड़ी हुई हैं, जिनमें कई के पार्टस गायब हैं। यही स्थिति जब्त ज्वेलरी को लेकर मानी जाती है। कई  ज्वेलरी थाने में पहुंचने के बाद  गायब कर दिए जाते हैं। अब तक यह बातें लोगों के बीच चर्चा में होती थी। लेकिन पटना पुलिस ने इन बातों को सच कर दिखाया है।

हमेशा विवादों से घिरे रहनेवाले पटना सचिवालय के मालखाना से लाखों रुपये की ज्वेलरी गायब होने का मामला सामने आया है। जिसमें पीड़ित की शिकायत पर पटना हाइकोर्ट ने संज्ञान लेते हुए एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो को जांच के आदेश दिया है। इस मामले में अब अगली सुनवाई पांच जनवरी, 2023 को होगी

दरअसल, ये ज्वेलरी गर्दनीबाग थाना क्षेत्र के रहने वाले दृगोनेश्वर कुमार की हैं। साल 2006 में गर्दनीबाग थाने में चोरी का मामला दर्ज हुआ था। तब पुलिस ने मामले में सोने और चांदी की ज्वेलरी की बरामदगी की थी, जिसकी सीजर लिस्ट बनाकर ज्वेलरी को सचिवालय थाना के मालखाना में रखा गया। सूत्रों की मानें, तो मालखाना से सीज की गयी ज्वेलरी ही गायब हो गयी है. इस मामले में अब अगली सुनवाई पांच जनवरी, 2023 को होगी \

जांच में जुटे आइपीएस अधिकारी

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एसएसपी ने एएसपी काम्या मिश्रा के नेतृत्व में जांच टीम गठित कर दी है. वहीं, तत्कालीन एसएचओ, आइओ और मालखाना प्रभारी से पूछताछ की जा रही है. पुलिस अधिकारी इसकी जानकारी जुटाने में जुट गये हैं कि मालखाना से और क्या-क्या गायब है. मामले में तत्कालीन थानेदार, केस नंबर 419/2006 के आइओ से पूछताछ होगी. 

जांच चार हफ्ते के अंदर पूरी करनी है

सुनवाई करते हुए कोर्ट ने एसएसपी को मामले की जांच कर रिपोर्ट करने को कहा है. हाइकोर्ट ने 17 अक्टूबर, 2022 को एसएसपी को आदेश दिया है कि यह जांच किया जाये कि मालखाना से ज्वेलरी कहां गयी? जांच चार हफ्ते के अंदर पूरी करनी है और 10 हफ्तेके अंदर कोर्ट में रिपोर्ट जमा करने को कहा गया है


Find Us on Facebook

Trending News