अलीगढ़ में ओवैसी पर भड़के पूर्व AIMIM के नेता, कहा- राम सीता को गाली देकर नहीं ले सकते मुसलमानों का वोट

अलीगढ़ में ओवैसी पर भड़के पूर्व AIMIM के नेता, कहा- राम सीता को गाली देकर नहीं ले सकते मुसलमानों का वोट

अलीगढ़ : उत्तर प्रदेश में असदउद्दीन ओवैसी अपनी पार्टी को खड़ा करने के लिए जगह-जगह घूम रहे हैं और मुसलमानों की वोट हासिल करने के लिए तरह-तरह के तर्क दे रहे हैं, लेकिन अब वही ओवैसी को उन्हीं की पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नाजिम अली ने आड़े हाथों लिया है। नाजिम ने कहा कि देश में राम और सीता को गाली देकर आप कभी मुसलमानों का वोट हासिल नहीं कर सकते।

एआईएमआईएम यूथ ब्रिगेड के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नाजिम अली ने प्रेस क्लब पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में जल्द चुनाव होने वाले हैं। भाजपा कुछ अपने लोगों को लगाकर चुनाव बनाने की तैयारी में है और उत्तर प्रदेश के हालात बहुत संवेदनशील है। एक देश की दूसरी बड़ी आबादी खुद को असुरक्षित महसूस कर रही है।

उन्होंने कहा कि हैदराबाद से बैरिस्टर असदुद्दीन ओवैसी जिस तरह से दावा कर रहे हैं कि हम मुसलमानों के नेता है। हम मुसलमानों के बीच में काम करते हैं और मुसलमानों को ताकत देने आए हैं। इत्तिहाद कायम करने आये हैं। असल में झूठ बोल रहे हैं। वो इत्तिहाद कायम करने नहीं आए हैं। अगर उनका काम इत्तिहाद करने का होता तो सबसे पहले पीस पार्टी, राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल, परचम पार्टी ऑफ इंडिया से मिलने की कोशिश करते। क्योंकि यह लोग काफी समय से इन्हीं मुद्दों पर काम कर रहे हैं, जिस पर ओवैसी साहब आज बोल रहे हैं।


उन्होंने कहा कि उन्होंने उन मुद्दों को जमीनी स्तर पर उठाया है। जहां ओवैसी साहब मंचों पर मामलों को उठा रहे हैं। तो ओवैसी साहब का मकसद अगर इत्तिहाद होता तो वह उनसे मुलाकात करते। उनका मकसद इत्तिहाद नहीं है। उनका इत्तिहाद किससे हो रहा है भाजपा के साथ जो राजभर पहले भाजपा के साथ सरकार बनवाए उनसे इनका इत्तिहाद हो रहा है। क्या गारंटी है कि वह फिर से गद्दारी नहीं करेंगे। क्या गारंटी है कि वह भाजपा की तरफ से बैटिंग नहीं करेंगे। क्या गारंटी है कि आप उनके साथ जा रहे हैं, वह अवाम को सुरक्षित कर लेंगे। आज तो मतलब यह है कि आज देश के अंदर हर वर्ग परेशान है।

उन्होंने कहा कि ओवैसी साहब को मैं एक बात कहना चाहता हूं कि ओवैसी साहब भारत में राम और सीता को गाली देने के बाद कोई मुसलमानों का वोट हासिल नहीं कर सकता। मुसलमान कभी वोट नहीं करेगा। ओवैसी साहब के भाई और उनके संगन से यह बात उठी हैं। राम और सीता को गाली देने के बाद आप उत्तर प्रदेश से या भारत से कहीं भी आप मुसलमानों का वोट हासिल नहीं कर पाएंगे।  जनाब अतीक अहमद को साथ लीजिए या किसी और को साथ ले आइए कोई भी मुसलमान इनकी बातों में नहीं आएगा और इन को वोट नहीं करेगा।

उन्होंने कहा मैं ओवैसी के साथ था लेकिन अब आप देख रहे हैं। उनका दावा था कि मुसलमानों के साथ खड़े होंगे उनको ताकत देंगे, उनके इशू पर लड़ेंगे। आप अपने कैडर के साथ नहीं होते हैं और जब भी कोई कैडर पर मुकदमा लगाया जाता है तो ओवैसी साहब की कोई आवाज नहीं उठती। मेरठ के अंदर एक पार्षद की हत्या कर दी जाती है और कोई आवाज नहीं होती। कोई धरना पार्टी ने दिया है। ओवैसी साहब को सोचना होगा मंच पर तकरीर में हमारा दर्द बयां कर के हमारा वोट हासिल नहीं कर सकते।

उन्होंने कहा कि राम और सीता को गाली देने के बाद आप यह उम्मीद मत करिए कि भारतीय मुसलमान आपको वोट करेगा। मैं और एक बात कहना चाहता हूं कि हिंदू भाई निकल कर आए। जो राम जी की छवि को बदनाम किया जा रहा है उनके नाम ले लेकर हत्या हो रही है। मॉब लिंचिंग हो रही है। आए छवि को बचाएं।  यह लोग छवि की खराब कर रहे हैं। हम लोग आपका सहयोग करेंगे। हमारा विचार यह है कि राम के लिए "है राम के वजूद पर हिन्दुस्तां को नाज, अहले नजर समझते हैं उनको इमाम ए हिंद"


Find Us on Facebook

Trending News