पटना में अबैध बालू खनन को लेकर गैंगवार : अपराधियों को गिरफ्तार करने गयी पुलिस टीम पर हमला, फायरिंग करते हुए भागे, तीन महिला गिरफ्तार

पटना में अबैध बालू खनन को लेकर गैंगवार : अपराधियों को गिरफ्तार करने गयी पुलिस टीम पर हमला, फायरिंग करते हुए भागे, तीन महिला गिरफ्तार

पटना. बिहटा में अबैध बालू खनन को लेकर दो गुटों गैंगवार हुआ था। इसमें पांच लोगों की मौत हो गयी थी। हालांकि पुलिस ने एक ही मौत की पुष्टि की है। इस मामले में अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी करने गयी पुलिस टीम पर अपराधियों ने हमला कर दिया। मिली जानकारी के मामले में अपराधी प्रवीण कुमार, नवीन कुमार और गोपाल राय पुलिस टीम पर हमला करते हुए फरार हो गया। वहीं पुलिस ने मौके से तीन महिला को गिरफ्तार किया है। साथ ही पुलिस ने मौके से एक देशी कट्टा, पांच जिंदा कारतूस और नगद रुपये बरामद किये हैं।

वहीं बिहटा के आमनाबाद दियारा इलाके में हुए गैंगवार मामले पर आज ही एडीजी ने बताया कि पुलिस का इस मामले में अनुसंधान जारी है। कई लोगों को चिन्हित किया गया है। दो गुटों के आपसी बर्चस्व को लेकर गोलीबारी हुई है, जिसमें पुलिस ने 50 से जयादा खोखे बरामद किये हैं। वहीं इसमें दियारा के एक मजदुर विमलेश कुमार की मौत हुई है। पुलिस लगातार इस मामले पर काम कर रही है। ये दो गिरोह सिपाही गिरोह और फौजी गिरोह के बीच की लड़ाई है। जल्द पुलिस अपराधियों को गिरफ्तार कर लेगी।

बालू के अवैध कारोबार और उसको लेकर हो रही खुनी रंजिशों पर एडीजी मुख्यालय जितेंद्र सिंह गंगवार ने बीते महीने की पुलिस करवाई का ब्योरा दिया है। मामले को लेकर एडीजी जीएस गंगवार ने कहा कि बालू के अबैध खनन को रोकने के लिए पुलिस और माइनिंग डिपार्टमेंट लगातार कार्रवाई कर रहा है। एक जून से 21 सितम्बर तक (जब बालू का खनन का काम रुका रहता है) कार्रवाई करते हुए पुलिस ने बिहटा, गंगा दियारा क्षेत्रों से अबैध बालू खनन मामले में कुल 44 कांड दर्ज किये हैं।

 इसमें रानीतालाब में 16, बिहटा में 11, मनेर में छह, दानापुर में पांच, पालीगंज में दो, शाह्पुर में एक, सिंगोरी में एक, विक्रम में एक, दुल्हिनबाजार में एक कुल 44 एफआईआर दर्ज हुई है। एडीजी मुख्यालय ने कहा कि जेल में बंद अपराधियों द्वारा अवैध बालू का खनन को एक नेटवर्क के जरिए संचालित किया जा रहा है, जिस पर पुलिस कार्रवाई करेगी।


Find Us on Facebook

Trending News