67वीं BPSC परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों के लिए खुशखबरी, आयोग ने बढ़ायी 68 और सीटें

67वीं BPSC परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों के लिए खुशखबरी, आयोग ने बढ़ायी 68 और सीटें

Desk. 23 जनवरी को बिहार लोक सेवा आयोग की होने वाली प्रारंभिक परीक्षा स्थगित होने के बाद आयोग ने अभ्यर्थियों के लिए बड़ा तोहफा दिया है. बिहार लोक सेवा आयोग ने 67वीं प्रारंभिक संयुक्त परीक्षा के लिए 68 सीटों का इजाफा किया है. इसके बाद रिक्तियों की कुल संख्या 794 हो गई हैं. आयोग के संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक ने 16 दिसंबर को जारी शुद्धि पत्र में यह जानकारी दी है.

इन विभागों में बढ़ीं सीटें

आयोग ने कहा है कि 67वीं संयुक्त परीक्षा के लिए 24 सितंबर 2021 को विज्ञापन प्रकाशित करते हुए सुयोग्य उम्मीदवारों से ऑनलाईन आवेदन आमंत्रित किए गए थे. उक्त विज्ञापन के प्रकाशन के बाद 67वीं पीटी के माध्यम से नियुक्ति के लिए दो विभागों से कुल 68 रिक्तियां प्राप्त हुई हैं, जिन्हें उक्त प्रतियोगिता परीक्षा की रिक्तियों में जोड़ दिया गया है. जोड़ी गई रिक्तियां काराधीक्षक, कारा एवं सुधार सेवाएं निरीक्षणालय, गृह विभाग (कारा)-लेबल 9 पद के लिए और श्रम प्रवर्त्तन पदाधिकारी, श्रम संधान विभाग से जुड़ी हैं। दोनों के लिए न्यूनतम उम्र क्रमशः 20 वर्ष और 21 वर्ष है.

सीटें बढ़ने से अभ्यर्थियों को होगा फायदा

बता दें कि पहले 555 सीट के लिए वैकेंसी थी, जिसे बढ़ाकर 726 किया गया था. अब इसमें 68 सीटें और बढ़ाकर 794 कर दिया गया है. बीपीएससी पीटी परीक्षा में इतनी अधिक संख्या में अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं कि आयोग ने पहले 16 दिसंबर की तिथि दी और उसे रद्द कर 23 जनवरी 2022 किया गया. फिर उसे भी 7 दिसंबर को रद्द कर दिया गया था. स्वाभाविक रूप से सीटों के बढ़ने से प्रारंभिक परीक्षा में पहले से ज्यादा अभ्यर्थियों को पास किया जाएगा.

6 लाख से ज्यादा आवेदन

जानकारी के अनुसार इस बार बिहार लोक सेवा आयोग में अभ्यर्थियों की संख्या अनुमान से काफी ज्यादा हो गई. 6 लाख से ज्यादा आवेदन आयोग के पास आए हैं. पिछली बार से डेढ़ लाख ज्यादा आवेदन आए हैं. इसलिए परीक्षा का मैनेजमेंट बेहतर तरीके से करने के लिए तिथि स्थगित की गई है. इंतजाम बेहतर तरीके से करने के बाद तिथि निकाली जाएगी. 


Find Us on Facebook

Trending News