सरकार ने दी सहायता: बिहार के इस व्यक्ति को बैठे-बैठे मिल गए 1.61 लाख रुपए, कहा- पीएम ने भेजी मदद, नहीं करुंगा वापस

सरकार ने दी सहायता: बिहार के इस व्यक्ति को बैठे-बैठे मिल गए 1.61 लाख रुपए, कहा- पीएम ने भेजी मदद, नहीं करुंगा वापस

KHAGARIA: खगड़िया में एक हैरत -अंगेज मामला सामने आया है। जिले के मानसी प्रखण्ड के बख्तियारपुर दक्षिणी ग्रामीण बैंक शाखा के अधिकारी के गलती के कारण एक खाताधारक के खाते में किसी गैर के खाते से 1.61 लाख रूपया ट्रांसफर हो गया। अपने खाता में 1 लाख 61 राशि अचानक आई देखकर खाताधारक रंजीत कुमार दास के खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

खाताधारक यह मान कर रूपया बैंक से निकालकर धीरे -धीरे खर्च करने लगा कि यह सरकारी सहायता राशि है। जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भेजे हैं। बाद में जब बैंक अधिकारियों को अपनी भूल का एहसास हुआ तो उनके होश फाख्ता हो गए। फिर क्या था, बैंक अधिकारी रंजीत से रूपया लौटाने को कहने लगा। इसपर रंजीत भी कहने लगा कि यह राशि तो पीएम मोदी ने मुझे सहायता राशि के रूप में भेजी है, तो मैं क्यों लौटाऊं? जब युवक ने राशि नहीं लौटायी तो दक्षिणी ग्रामीण बैंक की बख्तियारपुर शाखा ने रंजीत के नाम से नोटिस जारी किया। फिर वह रूपया नहीं लौटाया। बाद में बैंक के शाखा प्रबंधक सत्यनारायण प्रसाद   ने रंजीत कुमार दास के खिलाफ मानसी थाना में केस दर्ज करवाया।

केस दर्ज होने के बाद पुलिस हरकत में आई और रंजीत को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। आपको बता दें की 85 वर्ष की तारा देवी के खाता से 01 लाख 60 हज़ार 9 सो 70 रूपया रंजीत कुमार दास के खाता में ट्रांसफर हो गया। था.तारा देवी भी बख्तियारपुर दक्षिणी ग्रामीण बैंक की एकाउंट होल्डर हैं। रिपया अकाउंट से गायब होने के बाद बुजुर्ग तारा देवी परेशान रही। परिजनों के शिकायत के बाद बैंक हरकत में आया और भूल सुधारी।

Find Us on Facebook

Trending News