अब बंदरों को पकड़ेगी सरकारः बिहार में 10 एकड़ जमीन में बनेगा बंदर बगीचा

अब बंदरों को पकड़ेगी सरकारः बिहार में 10 एकड़ जमीन में बनेगा बंदर बगीचा

PATNA: बिहार सरकार बंदरों के आतंक से परेशान है। सरकार अब इसका स्थाई समाधान करेगी। बिहार विधानसभा में बजट पर वाद-विवाद के बाद वन एवं पर्यावरण मंत्री नीरज कुमार सिंह ने विभाग के बारे में जानकारी दी।उन्होंने सदन को बताया कि सरकार बंदर और नीलगाय के स्थाई समाधान पर काम कर रही है।

नीलगायों का नसबंदी करेगी सरकार

मंत्री नीरज कुमार सिंह ने कहा कि काफी समय से नीलगायों का कोई स्थाई समाधान को लेकर सदन में सवाल उठते रहा। लेकिन अब तक कोई परमानेंट समाधान नहीं निकल सका। लेकिन अब हम इसका स्थाई समाधान निकालेंगे। राज्य सरकार नीलगायों की नसबंदी करने पर विचार कर रही है। नीलगायों की नसबंदी से उनका प्रजनन बंद हो जाएगा,फिर उसे पकड़कर जंगल में छोड़ा जायेगा। इस तरह से इस परेशानी से किसानों को निजात मिलेगी

रानीगंज में बनेगा बंदर बगीचा

वहीं दूसरी जो सबसे बड़ी परेशानी है वो बंदर है। बंदरों के आतंक से भी कई जिले के लोग परेशान हैं। बंदरों के आतंक को खत्म करने को लेकर हमारा विभाग पहल कर रहा है। वन एवं पर्यावरण विभाग बंदर बागीचा बना रहा है। बंदरों को पकड़कर बंदर बगीचा में रखा जाएगा। उन्होंने सदन में बताया कि रानीगंज में 10 एकड़ जमीन में बंदर बगीचा बनेगा। इस बगीचे में बंदरों के खाने-पीने की सारी सुविधा होगी। जहां भी बंदरों का आतंक होगा वहां से उसे पकड़कर इसी बंदर बगीचे में रखा जायेगा। विभाग के बारे में जानकारी देते हुए मंत्री ने सदन में बताया कि अगले वित्तीय वर्ष में 5 करोड़ पैधारोपण का लक्ष्य रखा गया है। 2009 से अब तक 30 करोड़ पौधे बिहार में लगाये गए हैं। 


Find Us on Facebook

Trending News