स्कूली छात्राओं से गलत लहजे में बात कर फंस गई आईएएस अधिकारी, राष्ट्रीय महिला आयोग ने लिया संज्ञान, मांगा जवाब

स्कूली छात्राओं से गलत लहजे में बात कर फंस गई आईएएस अधिकारी, राष्ट्रीय महिला आयोग ने लिया संज्ञान, मांगा जवाब

PATNA :सशक्त बेटी समृद्ध बिहार कार्यक्रम में छात्राओं के सवालों का गलत लहजे और बेतुके जवाब देने वाली महिला और बाल विकास विभाग की MD हरजोत कौर बम्हरा पर अब बड़ी कार्रवाई की तलवार लटकती हुई नजर आ रही है। जिस तरह उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान छात्रा के सवालों पर अपना जवाब दिया, उसे अब राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी संज्ञान में ले लिया है और आईएएस अधिकारी को इस विषय पर सात दिन में अपना जवाब देने के लिए कहा  गया है। 

बिहार के राजनेताओं ने भी उठाए सवाल

IAS अधिकारी हरजोत कौर बम्हरा के बेतूके जवाब को लेकर बिहार में राजनेताओं ने भी गंभीरता से लिया है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल ने इस मुद्दे पर सरकार के कार्रवाई की मांग की है। वहीं दूसरी जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने द्वारा IAS अधिकारी हरजोत कौर बम्हरा द्वारा छात्रा को पाकिस्तान जाने की नसीहत को भाजपा और आरएसएस से जोड़ दिया है। उन्होंने कहा है कि सरकार बदलने के बाद भी कुछ लोग अब भी अपने भाजपा प्रेम को छिपा नहीं पा रहे हैं। इसके अलावा टीईटी शिक्षक संघ ने उन्हें हटाने की मांग उठाई है। 

यह था पूरा मामला

पटना में बच्चियों की अवेयरनेंस के लिए हुई एक वर्कशॉप में एक लड़की ने पूछा कि क्या सरकार 20-30 रुपए का सैनिटरी पैड नहीं दे सकती। इसके जवाब में एक सीनियर महिला IAS अधिकारी ने कहा कि इस मांग का कोई अंत है। वे आगे बोलीं, '20-30 रुपए का सैनिटरी पैड दे सकते हैं। कल को जींस-पैंट दे सकते हैं। परसों सुंदर जूते क्यों नहीं दे सकते हैं?'

IAS अधिकारी हरजोत कौर बम्हरा यहीं नहीं रुकीं। वे यह भी बोल गईं कि अंत में जब परिवार नियोजन की बात आएगी तो निरोध भी मुफ्त में भी देना पड़ेगा। मंगलवार को 'सशक्त बेटी, समृद्ध बिहार: टुवर्ड्स एन्हान्सिंग द वैल्यू ऑफ गर्ल चाइल्ड' विषय पर हुई इस वर्कशॉप को महिला एवं बाल विकास निगम द्वारा यूनिसेफ, सेव द चिल्ड्रेन एवं प्लान इंटरनेशनल ने संयुक्त रूप से आयोजित किया था।

Find Us on Facebook

Trending News