भोजपुर में बदमाशों ने बाप-बेटे पर की ताबड़तोड़ फायरिंग, पुत्र की मौके पर हुई मौत, पिता गंभीर रूप से जख्मी

भोजपुर में बदमाशों ने बाप-बेटे पर की ताबड़तोड़ फायरिंग, पुत्र की मौके पर हुई मौत, पिता गंभीर रूप से जख्मी

ARA : न जाने आरा पर किसकी नजर लग गई है। प्रतिदिन लाशें गिर रही है। यह कहना कही से भी गलत नही होगा की भोजपुर पर पूर्ण रूप से अपराधियों का साम्राज्य कायम हो गया है। जी हा यह कोई कहानी नही हकीकत है। पुलिस अभी बीते दिनों की घटना की गुथी सुलझाने मे ही लगी है की दूसरे दिन ही अपराधी कही न कही दूसरी घटना को अंजाम देने के बाद पुलिस को दूसरी होमवर्क दे डालते है। इस प्रकार देखा जाय तो पुलिस प्रशासन पर अपराधि भारी पड़ रहा है। वैसे देखा जाय तो भोजपुर मे हत्या अपहरण की घटनाय हमेशा घटते रहती है। लेकिन पिछले एक सप्ताह से देखा जाए तो हर दिन जिले मे इंसान की लाश गिरने का सिलसिला जो शुरू हुआ है वह थमने का नाम नही ले रहा है। 

लगातार हो रही हत्या मे शुक्रवार की दिनदहाड़े जहाँ पूर्व वार्ड पार्षद के पुत्र की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। वही दूसरी तरफ शनिवार की शाम अपने दुकान पर बैठा बाप बेटा को अपराधियों ने गोली मार् दिया। जिसमे पुत्र की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि गोली बारी की घटना मे जख्मी पिता जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है। 

सूत्रो की माने तो शनिवार की शाम नवादा थाना क्षेत्र के शीतल टोला का रहने वाला आकाश कुमार उर्फ भोलू पिता अमर जीत पटेल अपने आटा चकी की दुकान पर बैठा था। तभी बाइक सवार अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दिया और आराम से चलते बने। घटना के बाद अफरा तफरी का माहौल कायम हो गया। गोलीबारी की घटना मे पुत्र आकाश कुमार की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि पिता अमरजीत पटेल गंभीर रूप से जख्मी हो गए। 

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुची पुलिस ने जख्मी को इलाज के लिए निजी क्लिनिक मे भर्ती कराया। जहाँ जख्मी की हालत नाजुक बताई जाती है। वही दूसरी तरफ घटना की सूचना पर सदर अस्पताल पहुँचे एस पी को भी मृतक के परिजनों द्वारा कोप भाजन का शिकार होना पडा। घटना से नाराज परिजनों ने सीधे सीधे पुलिस पर ही हत्या करवाने का आरोप लगाते हुए खरी खोटी सुनाई। सूत्रो की माने तो मृतक के परिवार और आरोपी के बीच तीन दिन पहले ही झगड़ा हुआ था। जिसमे दोनो पक्षो के तरफ से आवेदन दिया गया था। लेकिन पुलिस केवल आरोपी के आवेदन को ही गंभीरता से लिया। लोगो के आवेदन पर कोइ कारवाई नही की गई। यदि पुलिस हमलोगो के आवेदन पर भी कारवाई करती तो शायद इस प्रकार की घटना नही घटती।

आरा से रविन्द्र की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News