जिन्हें लोग टिकट लेकर देखने आते थे, आज मक्का के खेतों में मजदूरी करने को मजबूर है, पढ़िए पूरी खबर

जिन्हें लोग टिकट लेकर देखने आते थे, आज मक्का के खेतों में मजदूरी करने को मजबूर है, पढ़िए पूरी खबर

KISHANGANJ : किशनगंज जिला के ठाकुरगंज  प्रखंड अन्तर्गत बरचोन्दी में लगे एक सर्कस को देखने के लिए लोग टिकट लेकर आते थे. आज उनकी ऐसी स्थिति हो गई है कि वहां काम करने वाले लोग खेतों में जाकर काम करने  को मजबूर हैं. क्योंकि कोरोना की वजह से लॉक डॉउन लगा है. सरकार के गाइडलाइन के मुताबिक सर्कस बन्द है. प्रोजेक्ट पटेंसियल के सुपरवाइजर मोहम्मद मेहरुद्दीन से मिली जानकारी के अनुसार लॉक डाउन के कारण सर्कस बन्द पड़ा है. 

सर्कस की लोगों की आमदनी का जरिया बन्द है. लोग इस कदर मजबूर हो गए है की जिन्हें देखने के लिए टिकट लेकर लोग आते थे. वही लोग यानी काम करनेवाले मर्द और औरत आज दूसरों के खेतों में मक्का तोड़ने के लिए भी मजबूर है.अब मक्का की खेती तो खत्म हो गया तो जो मर्द है. वे लेबर और मिस्त्री का काम करने को मजबूर हो गए हैं. लेकिन सब से सब काम होता कहाँ है? 

सर्कस के लोगों की ऐसी स्थिति देखकर प्रोजेक्ट पोटेंशियल नामक संस्था ने सर्कस के लोगों की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया और सभी लोगों को राहत सामग्री उपलब्ध कराया. इस दौरान मेहरुद्दीन के साथ तनमोई , सुलेन्द्र कुमार , तरुण कुमार के साथ संस्था का स्थानीय कर्मी अब्दुल मन्ना, इफ्तेखार अंजुम, रौनक परवीन के साथ अन्य कई लोग मौजूद रहे. 

किशनगंज से साजिद हुसैन की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News