कर्पूरी ठाकुर की जयंती के बहाने बीजेपी ने खेला अति-पिछड़ा कार्ड, सीएम नीतीश के बाद अब BJP ने भी नरेंद्र मोदी सरकार से की बड़ी मांग..जानिए.......

कर्पूरी ठाकुर की जयंती के बहाने बीजेपी ने खेला अति-पिछड़ा कार्ड, सीएम नीतीश के बाद अब BJP ने भी नरेंद्र मोदी सरकार से की बड़ी मांग..जानिए.......

PATNA: बिहार के पूर्व सीएम कर्पूरी ठाकुर की आज जयंती है।इस मौके पर बिहार की सभी पार्टियां पूर्व सीएम की जयंती मना रही है।सभी पार्टिय़ां यह बताने में जुटी है कि वही पिछड़ों की सबसे बड़ी हितैषी हैं।पटना में आज राजद-जेडीयू,बीजेपी और आरएलएसपी ने कार्यक्रम आयोजित किया है।बीजेपी दफ्तर में आयोजित कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किया गया है। कार्यक्रम में बिहार बीजेपी के तमाम बड़े नेता शामिल हुए।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर ने अति-पिछड़ों को आरक्षण दिया।कांग्रेस पर तंज कसते हुए सुशील मोदी ने कहा कि बिहार में कई पार्टियां आज कर्पूरी जंयती का कार्यक्रम आयोजित कर रही है।लेकिन कांग्रेस पार्टी ने कार्यक्रम आयोजित नहीं किया है।वहीं बीजेपी दफ्तर के बगल में एक और जयंती मन रही है।वो जयंती 15 साल तक बिहार में जंगलराज चलाने वाली राजद की तरफ से आयोजित की गई है।उन्होंने कहा कि राजद को कर्पूरी ठाकुर की जयंती मनाने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।

सुशील मोदी ने कहा कि जब बिहार में बीजेपी-जेडीयू की सरकार बनी तो हमलोगों ने पंचायतों में आरक्षण लागू किया।जबकि 15 सालों तक राज करने वाले लालू –राबड़ी ने सिर्फ गरीबों-पिछड़ों का शोषण किया।उन्होंने कहा कि हमारी सरकार की वजह से हीं आज बिहार में पिछड़ा-अति पिछड़ा समाज के 1600 से अधिक मुखिया हैं।राजद पर अटैक करते हुए सुशील मोदी ने कहा कि आज अति पिछड़ों का वोट लेने के लिए तरह-तरह के झांसे दिए जा रहे हैं।लेकिन हकीकत यही है कि लालू परिवार कभी पिछड़ों की हितैषी नहीं हो सकती।उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि 2015 के विस चुनाव में राजद ने सिर्फ 5 अति पिछड़ों को टिकट दिया।जबकि बीजेपी ने 25 सीटों पर प्रत्याशी अति पिछड़ा समाज से उतारा था।वहीं जेडीयू ने भी 16 टिकट दिया जिसमें से 7 पर जीत हुई थी।

नीतीश के बाद अब बिहार बीजेपी ने भी जाति आधारित जनगणना की उठाई मांग

सुशील मोदी ने जयंती कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि पूर्व सीएम को भारत रत्न की उपाधि मिलनी चाहिए।हमलोग केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि उन्हें भारत रत्न मिले।इसके साथ हीं मोदी ने यह भी मांग कर दी कि जनगणना भी जाति आधारित होनी चाहिए।इसके लिए केंद्र सरकार को जनगणना में जाति का कॉलम जोड़ना चाहिए।

सवर्णों के भी हितैषी थे

डिप्टी सीएम ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर ने सभी जातियों के लिए आरक्षण लागू किया।उन्होंने जब बिहार में आरक्षण लागू किया में 3 फीसदी गरीब सवर्णों के लिए भी आरक्षण दिया।उसी तर्ज पर हमारी सरकार ने 10 फीसदी आरक्षण सवर्णों को दिया है।



Find Us on Facebook

Trending News