मासूम बच्चे के अपहरण कर किडनैपरों ने मांगी एक किलो सोन पापड़ी और बड़ी रकम, पुलिस ने पांच घंटे में पकड़ लिया

मासूम बच्चे के अपहरण कर किडनैपरों ने मांगी एक किलो सोन पापड़ी और बड़ी रकम, पुलिस ने पांच घंटे में पकड़ लिया

BUXER : बढ़ते अपराधों के कारण लगातार आलोचना का शिकार हो रही बिहार पुलिस ने बच्चे के अपहरण के मामले को न सिर्फ कुछ घंटे में खुलासा कर दिया, बल्कि इस साजिश में शामिल अपराधियों को गिरफ्तार भी कर लिया। मामला बक्सर जिले से जुड़ा है। जहां पुलिस ने अपनी सूझबूझ और सक्रियता से त्वरित कार्रवाई करते हुए  महज पांच घंटे के भीतर अपहृत 7 वर्षीय लाडू गोपाल को सकुशल बरामद कर लिया। इसके साथ दो किडनैपरों को भी गिरफ्तार किया है

50 लाख की मांग थी फिरौती

किडनैपिंग के मामले में जिले की पुलिस के काम की तारीफ करते हुए एसपी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि इटाढ़ी के सूर्य कुमार पाठक के मकान में किराए पर रहने वाले दोनों भाईयों ने ही उनके पोते का अपहरण कर लिया था। आरोपियों ने बताया कि जमीन खरीद के पैसे समय पर नही चुकाने के कारण अपहरण किया था।  उन्होंने बताया कि  फिरौती के रूप में एक किलो सोनपापड़ी व पचास लाख नकद की मांग की थी । 

सगे भाइयों ने रची थी साजिश

एसपी ने कहा कि गहमर थाना के बधौत निवासी सुरेंद्र यादव एवं राकेश यादव दोनों पिता नारायण यादव को गिरफ्तार किया गया है। सूर्यनाथ पाठक के मकान में आठ माह से दोनों किराए पर रह रहे थे। उनसे ही एक सप्ताह पूर्व जमीन खरीदा था। जिसमें कुछ पैसा बाकी था। जिसको देने को लेकर वह टेंशन में रहता था। सुरेन्द्र ने पुलिस को बताया कि इसके बारे में भाई राजेश को बताया तो उसने अपहरण का प्लान किया। दोस्त प्रमोद यादव के साथ बाइक से आने की बात कही। उसके बाद फिरौती की मांग का प्लान बनाया।

आइसक्रीम के बहाने किया किडनैप

24 मार्च को दोपहर अपहृत लड्डू गोपाल मिश्रा के माता-पिता बाजार गए। उसके बाद उसने प्लान के अनुसार अपना किया। लड्डू गोपाल को आइस्क्रीम खाने के लिए राजेश और प्रमोद के साथ बाइक पर भेज दिया। उसे अपने पत्नी का मोबाइल भी दे दिया। उसी से फिरौती मांगने को कहा। जब लड्डु के माता-पिता आए तो खोजबीन शुरू की तो कहा कि लड्डू मेरी पत्नी का मोबाइल लेकर खेल रहा था। कहीं लेकर चला गया है। तब भाई को फोनकर कहा कि फिरौती मांगो।

बाद में रितु के मोबाईल पर राजेशने 50 लाख व एक किलो पापड़ी लेकर आरा पहुंचने को कहा। इधर रितु व रामआशीष ने इटाढ़ी थाना को सूचना दी। पुलिस लोकेशन पर नजर रखी। चेकिंग देखकर कुकुढ़ा-चौसा मुख्य मार्ग पर मितनपुरवां गांव के समीप लड्डु को चॉकलेट के लिए दस रूपया देकर प्रमोद व राकेश फरार हो गए।

एसपी ने बनाई थी एसआईटी

इटाढ़ी में जैसे ही बच्चे की अपहरण की सूचना मिली बक्सर एसपी नीरज कुमार सिंह ने सदर एसडीपीओ गोरख राम के नेतृत्व में सदर सर्किल इंस्पेक्टर मनोज कुमार, इटाढ़ी थानाध्यक्ष राहुल कुमार, डीआईयू अलोक कुमार, रंजीत कुमार, दरोगा लालबाबू सिंह, राकेश कुमार सिंह, महिला दरोगा मनो कुमारी, डीआईयू टीम के सदस्य जैकी, पिंटू, विकास, सोनू, ऋकेश को छापेमारी के लिए भेजा गया।


Find Us on Facebook

Trending News