अपने 100वें टेस्ट मैच को यादगार बनाने मैदान में उतरेंगे किंग कोहली, शतक बनाया तो बन जाएगा एक बड़ा रिकॉर्ड

अपने 100वें टेस्ट मैच को यादगार बनाने मैदान में उतरेंगे किंग कोहली, शतक बनाया तो बन जाएगा एक बड़ा रिकॉर्ड

MOHALI : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और टीम इंडिया के सबसे शानदार खिलाड़ी विराट कोहली श्रीलंका के खिलाफ मैदान में उतरेंगे तो यह एक इतिहास के पन्नों में दर्ज हो जाएगा। विराट कोहली उन विशेष खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल हो जाएंगे, जिन्हें टेस्ट क्रिकेट में 100 टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला है। कोहली से पहले सिर्फ 70 खिलाड़ी ही इस मुकाम तक पहुंच पाएं है। कोहली 71वें खिलाड़ी होंगे। वहीं भारत के लिए वह 12वें खिलाड़ी होंगे। 

लगभग 14 साल के क्रिकेट करियर में कोहली ने कामयाबी के हर मुकाम को हासिल किया। विराट अब तक वनडे में 43 और टेस्ट में 27 शतक लगा चुके हैं। टी-20 में भी उनका प्रदर्शन शानदार रहा है। वर्तमान विश्व क्रिकेट में कोहली की गिनती उन बल्लेबाजों में होती है,  जिनके बिना किसी टीम की कल्पना भी नहीं हो सकती है। सौ टेस्ट मैचों का सफर इस कामयाबी की कहानी को बताता है। 

कोहली के सामने है चुनौती

सौंवा टेस्ट मैच खेलने जा रहे कोहली के लिए पिछले दो साल बेहद खराब रहे हैं। उन्हें टीम इंडिया की कप्तानी से हटा दिया गया। कोहली रन तो बना रहे थे, लेकिन उन पारियों को शतक में बदल नहीं पा रहे थे। उन्होंने आखिरी बार शतक 23 नवंबर 2019 को बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता में लगाया था। आज अपने सौंवे टेस्ट मैच में जब श्रीलंका के खिलाफ मैदान में उतरेंगे तो पिछले ढाई साल के शतक के सूखे को भी खत्म करने के इरादे से उतरेंगे। इस बात की उम्मीद कोहली के हर फैन्स को होगी। आज तक किसी भारतीय ने अपने सौंवे टेस्ट में शतक नहीं बनाया है। अगर कोहली ऐसा कर पाते हैं तो यह एक नया इतिहास होगा। 

मोहाली में कोहली का प्रदर्शन

मोहाली के PCA स्टेडियम में कोहली ने सिर्फ 3 टेस्ट मैच खेले हैं और लगभग 50 की औसत के साथ 199 रन बनाए हैं। इस मैदान पर खेली 6 पारियों में उन्होंने दो बार 50+ का स्कोर बनाया है। हालांकि इस दौरान वह एक भी शतक नहीं बना सके। कोहली का सबसे बढ़िया प्रदर्शन नाबाद 67 रन रहा।

सौंवे टेस्ट को लेकर क्या कहते हैं कोहली

कोहली की माने तो उन्होंने यह कभी नहीं सोचा था की वह अपने जीवन में 100 टेस्ट खेल पाएंगे। उन्होंने यहाँ पहुँचने के लिए कड़ी मेहनत की है। पूर्व कप्तान कोहली ने कहा कि मैं अपने आप को सौभाग्यशाली मानता हूं कि मुझे यह 100 टेस्ट खेलने का मौका मिला है। इस सफर के दौरान बहुत ज्यादा इंटरनेशनल क्रिकेट मैच खेली है। यहां तक पहुंचने के लिए बहुत कड़ी मेहनत की है। यह मेरे और मेरे परिवार के लिए एक बड़ा मौका है। खासकर मेरे कोच के लिए, जिन्हें सबसे ज्यादा खुशी हुई। मैंने करियर में उन्हीं से सीखा है। 

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पहले मैं छोटी पारियां खेलता था। लेकिन बड़ी पारी खेलने का आइडिया 7वीं और 8वीं क्लास से आया। जब मैंने जूनियर क्रिकेट में कुछ बड़ी डबल सेंचुरी लगाईं। खूब सारे रन बनाए। मेरा तब यही मानना रहता था कि मैं लंबी पारी खेलूं। क्रीज पर जमकर खेलूं। मैं अपनी बल्लेबाजी का मजा लेने लगा था। मैं हमेशा अपनी टीम को जीत दिलाने की कोशिश करता हूं। यही चीजें होती हैं, जो आपको बहुत कुछ सिखाती हैं। यही आपका रियल टेस्ट भी होता है। टेस्ट में अनुभव काफी मायने रखता है।  


Find Us on Facebook

Trending News