मल्लाहों में महाभारत ! कुढ़नी उप चुनाव में समर्थन देने को लेकर भिड़े दो पक्ष ? मुकेश सहनी को लेकर निषाद समाज में भारी नाराजगी

मल्लाहों में महाभारत ! कुढ़नी उप चुनाव में समर्थन देने को लेकर भिड़े दो पक्ष ? मुकेश सहनी को लेकर निषाद समाज में भारी नाराजगी

PATNA: बिहार विधानसभा की कुढ़नी सीट पर उप चुनाव हो रहे हैं. इस चुनाव में सन ऑफ मल्लाह कहे जाने वाले मुकेश सहनी की पार्टी भी चुनावी मैदान में है। मुकेश सहनी ने इस बार अपने समाज को छोड़ भूमिहार पर दांव लगाया है। निषाद समाज से दो अन्य कैंडिडेट मैदान में हैं. मल्लाह-निषाद समाज इस उप चुनाव में किसे मदद करे, इसको लेकर आज निषाद महा पंचायत बुलाई गई थी। लेकिन मल्लाहों के पंचायत में ही महाभारत छिड़ गया. भारी बवाल के बीच महापंचायत को बिना किसी निर्णय के खत्म करने की घोषणा करनी पड़ी. 

निषाद महा पंचायत में हंगामा 

किसानों के राजनीतिक एवं सामाजिक अधिकार की सुरक्षा को लेकर बनाए गए निषाद संघर्ष मोर्चा की तरफ से आज निषाद महापंचायत आयोजित की गई थी. निषाद संघर्ष मोर्चा के जिला अध्यक्ष वीरेंद्र सहनी ने  कुढ़नी के केरमा स्टेडियम में महापंचायत बुलाया था. इस महापंचायत में बड़ी संख्या में मल्लाह समाज से जुड़े लोग पहुंचे थे. कार्यक्रम में कोई निर्णय होता इसके पहले ही बवाल हो गया। मल्लाह समाज से दो कैंडिडेट थे, एक पक्ष चाह रहा था कि एक पक्ष को बैठा दिया जाए। इसके बाद ही विरोध शुरू हुआ। स्थिति ऐसी हो गई कि मंच पर ही आयोजक व अन्य लोग भिड़ गए। कार्यक्रम में आए निषाद समाज के लोगों ने बताया कि वर्तमान में निषाद समाज तीन भागों में बंटा हुआ है। मुकेश सहनी की पार्टी से इस समाज को भारी नाराजगी है। 

मुकेश सहनी ने समाज के साथ किया धोखा 

एक पक्ष का कहना था कि मुकेश सहनी ने कार्यक्रम में हंगामा करवाया है. वे डर गए हैं क्यों कि कुढ़नी के सहनी समाज के लोगों ने शेखर सहनी के पक्ष में मतदान करने का निर्णय लिया है। मुकेश सहनी भले ही हमारे समाज के हों लेकिन उन्होंने कैंडिडेट दूसरे वर्ग से दिया है। ऐसे में हम लोगों ने मन बना लिया है कि अपने समाज के उम्मीदवार शेखर सहनी के पक्ष में काम करेंगे। केदार सहनी जो पहले मुकेश सहनी की पार्टी से जुड़े थे उन्होंने कहा कि वे हमारे समाज के साथ धोखा कर रहे हैं. उनके खाने और दिखाने का दांत अलग-अलग है। वे हमारे समाज के खिलाफ काम कर रहे हैं. जब कुढ़नी के निषाद वर्ग अपने समाज के कैंडिडेट के पक्ष में गोलबंद हो रहे हैं तो वीआईपी के जिलाध्यक्ष ने यहां आकर हंगामा किया है।वहीं कार्यक्रम के आयोजक वीरेन्द्र सहनी ने कहा कि आज की मीटिंग को हंगामे की वजह से खत्म करना पड़ा है। लेकिन अब मुजफ्फरपुर में हम लोग बैठेंगे और निर्णय लेंगे कि हमलोग किसे वोट करें। 

बता दें, कुढ़नी में जेडीयू ने जहां पूर्व मंत्री मनोज कुशवाहा को उम्मीदवार बनाया है. वहीं बीजेपी ने पूर्व विधायक केदार प्रसाद गुप्ता पर एक बार फिर से दांव आजमा रही है। जबकि वीआईपी ने कुढ़नी से चार बार विधायक रहे शाधु शरण शाही के पोता निलाभ कुमार पर दांव खेला है। ओवैसी की पार्टी ने पूर्व जिला पार्षद गुलाम मुर्तजा अंसारी को मैदान में उतारा है. गुलाम मुर्तजा जेडीयू के साथ-साथ आरजेडी में भी रह चुके हैं

Find Us on Facebook

Trending News