यूक्रेन-रूस युद्ध और जहांगीरपुरी हिंसा में भड़काऊ मीडिया कवरेज पर मोदी सरकार हुई सख्त, जारी की चेतावनी

यूक्रेन-रूस युद्ध और जहांगीरपुरी हिंसा में भड़काऊ मीडिया कवरेज पर मोदी सरकार हुई सख्त, जारी की चेतावनी

DESK. यूक्रेन-रूस युद्ध और हाल के दिनों में देश के कुछ हिस्सों में हुई हिंसा को लेकर मीडिया चैनलों द्वारा किये गये कवरेज पर सूचना और प्रसारण मंत्रालय के तेवर तल्ख है. मंत्रालय ने आज शनिवार को कड़े शब्दों में सलाह जारी करते हुए मीडिया चैनलों को चेतावनी दी है कि अगर यह नहीं रूका तो केंद्र सरकार उन पर कार्रवाई कर सकती है.

मंत्रालय ने अपनी एडवाइजरी में कहा है कि कुछ चैनल इन घटनाओं को कवर करने के दौरान अप्रमाणिक, भ्रामक, सनसनीखेज और सामाजिक रूप से अस्वीकार्य भाषा और टिप्पणियों का उपयोग कर रहे हैं. जो शालीनता को ठेस पहुंचा रहे है. बता दें कि विशेष रूप से, मंत्रालय ने रूस-यूक्रेन संघर्ष और हनुमान जयंती पर दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुई सांप्रदायिक झड़पों की कवरेज को लेकर यह हिदायत दी है.

एडवाइजरी में कहा गया है कि चैनल यूक्रेन युद्ध पर झूठे दावे कर रहे हैं. अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों के साथ-साथ अभिनेताओं को गलत तरीके से कोट कर रहे हैं. कई चैनलों के कई पत्रकारों और समाचार एंकरों ने दर्शकों को भड़काने के इरादे से मनगढ़ंत बातें कहीं. मंत्रालय ने रूस के परमाणु हमले की आशंका को लेकर भी चैनलों को फटकारा है.

मंत्रालय ने आरोप लगाया कि चैनल यूक्रेन में संघर्ष के बारे में झूठे दावे कर रहे हैं और निंदनीय टैगलाइनों का उपयोग कर रहे हैं. मंत्रालय ने चैनलों पर जहांगीरपुरी हिंसा के कवरेज में सांप्रदायिक तनाव को बढ़ाने का भी आरोप लगाया है. एडवाइजरी में आरोप लगाया गया है कि टीवी चैनलों के कवरेज में भड़काऊ सुर्खियां और हिंसा के वीडियो शामिल हैं जो समुदायों के बीच सांप्रदायिक नफरत को भड़का सकते हैं. जिससे शांति और कानून व्यवस्था बाधित हो सकती है.


Find Us on Facebook

Trending News