नक्सली जोनल कमांडर ने अपने ही साथी को किया गोलियों से छलनी, लेवी के पैसे को लेकर हुआ था विवाद

नक्सली जोनल कमांडर ने अपने ही साथी को किया गोलियों से छलनी, लेवी के पैसे को लेकर हुआ था विवाद

West signhbhum : जिले से एक  बड़ी खबर सामने आई है। जहां लेवी के पैसे को लेकर नक्सली जोनल कमांडर द्वारा अपने ही पुराने साथी का अपहरण कर गोलियों से छलनी कर दिया गया है। पुलिस ने मृतक के लाश का पोस्टमार्टम करा उसके परिजनों को सौंप दिया है। 

बीच बाजार से उठाकर ले गए नक्सली

घटना के संबंध में बताया गया है कि नक्सली जोनल कमांडर मोछू ने लेवी के पैसों को लेकर जिले के चक्रधरपुर स्थित डेरोवां साप्ताहिक बाजार से अपने पुरानी साथी दिलबर भेंगरा का अपहरण कर गोलियों से छलनी कर दिया। हत्या के बाद सरेआम हथियार लहराते हुए दस्ते संग जंगल की ओर भाग निकला। सोमवार सुबह डेरोवां हाई स्कूल के पीछे मैदान से गोईलकेरा पुलिस ने दिलबर का शव बरामद किया। 

बताया जा रहा है कि मिशन टोला निवासी दिलबर भेंगरा रविवार शाम करीब पांच बजे डेरोवां साप्ताहिक बाजार गया था। तभी दस-बारह की संख्या में पहुंचे हथियार बंद नक्सलियों ने दिलबर का अपहरण कर लिया। अपहरण के बाद उसे हाईस्कूल के पीछे मैदान में ले गये और गोली मारकर हत्या कर दी। नक्सलियों के दस्ते में पांच-छह महिला नक्सली भी शामिल थीं।

लेवी के पैसों को लेकर था विवाद

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दिलबर भेंगरा पूर्व में नक्सली संगठन में था और वर्ष 2009 में वह गिरफ्तार हुआ था। कुछ साल पहले जेल से छूटने के बाद फिर से संगठन में सक्रिय हो गया और लेवी वसूली का काम करने लगा। लेवी के पैसों को लेकर ही जोनल कमांडर मोछू उर्फ मेनहत उर्फ विभीषण के साथ कुछ दिनों से अनबन चल रही थी। इसी अनबन को लेकर रविवार को मोछू अपने दस्ते के साथ डेरोवां बाजार पहुंचा और अपहरण करने के बाद दिलबर की गोली मारकर हत्या कर दी।

Find Us on Facebook

Trending News