वृद्ध लालू प्रसाद को बंधक से मुक्त कराएगी नीतीश सरकार, लेंगे इस कानून का सहारा

वृद्ध लालू प्रसाद को बंधक से मुक्त कराएगी नीतीश सरकार, लेंगे इस कानून का सहारा

72 वर्षीय लालू प्रसाद को नई दिल्ली में बंधक बनाए जाने के तेज प्रताप के दावे के बाद बिहार की सियासत में राजद बैकफुट पर आ गई है। मामले में  अब जदयू की तरफ से कहा गया है कि अगर कोई बंधक है तो हमारी  नीतीश कुमार की सरकार उन्हें मुक्त कराने का काम करेगी। जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि अगर उन्हें बंधक बनाया गया है, तो राज्य सरकार उन्हें मुक्त कराएगी। इसके लिए कानूनी प्रावधानों का प्रयोग करेगी।

नीरज कुमार ने कहा कि बंधक बनाने का मामला राजद का आंतरिक मामला है। लेकिन हमारी सरकार ने राज्य में वरिष्ठ नागरिक एवं माता पिता भरण पोषण अधिनियम 2007 बनाया गया है। जिसमें  माता पिता की सम्मान की रक्षा करने, जीवन की सुरक्षा, संपत्ति की सुरक्षा, गुजारा भत्ता को लेकर अनुमंडल अधिकारी के यहां आवेदन दे सकता है। उन्होंने नाम न लेते हुए कहा कि अगर किसी को लगता है कि ऐसा कोई मामला है, तो वह इस संबंध में आवेदन करें, हमारी सरकार निश्चित रूप से इस पर कार्रवाई करेगी। 

बंधक मामले ने पकड़ लिया तूल

जिस तरह से तेज प्रताप ने लालू प्रसाद को दिल्ली में बंधक बनाए जाने का आरोप लगाया है, उसके बाद बिहार की राजनीति में नया मोड़ आ गया है। तेज प्रताप का सीधा आरोप अपने छोटे भाई पर है, जिनको लेकर उन्होंने कहा था कि राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के लिए कुछ लोग पिताजी को नई दिल्ली में बंधक बनाकर रखे हुए हैं और उन्हें पटना नहीं आने दे रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News