बिहार सरकार को डराने के लिए 13 महीने नहीं, सिर्फ 13 दिन की जरुरत, नोटिस मिलने के बाद भी नहीं रूक रहे सुुधाकर सिंह

बिहार सरकार को डराने के लिए 13 महीने नहीं, सिर्फ 13 दिन की जरुरत, नोटिस मिलने के बाद भी नहीं रूक रहे सुुधाकर सिंह

लालू प्रसाद के निर्देश पर नोटिस मिलने के बाद भी राजद विधायक सुधाकर सिंह द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ बयानबाजी जारी है। पूर्व कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने शनिवार को फिर अपनी ही सरकार के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। उन्होंने कृषि मंडी कानून को लेकर अगर यहां किसानों ने 13 दिन आंदोलन किए तो सरकार को झुकना पड़ जाएगा। सुधाकर सिंह ने उक्त बातें आरा में महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि कार्यक्रम के दौरान कही। 

उन्होंने कहा कि बिहार में हर हाल में कृषि मंडी कानून लागू हो। बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने के नाम पर कई वर्षों से दिल्ली सरकार के सामने कटोरा लेकर जाते रहे हैं। लेकिन कुछ नहीं मिला। बीते डेढ़ दशक से ज्यादा का समय इस सच्चाई की खुली गवाही है कि सरकार की खातिर गठबंधन बदला, मगर बिहार की तकदीर नहीं बदली।

13 महीने नहीं सिर्फ 13 दिन में डर जाएगी बिहार सरकार

कृष मंडी कानून पर बोलते हुए सुधाकर सिंह ने कहा कि केंद्र ने देश में तीन कृषि कानून बनाकर लाए। किसानों ने 13 महीने आंदोलन किए। कानून वापस करना पड़ा। बिहार में  किसान13 दिन प्रदर्शन-धरना करेंगे, तो कृषि कानून, भूमि मुआवजा और ऐसे अन्य मसलों पर भी कारगर प्रभाव पड़ेगा। जाहिर तौर पर सरकार, आंदोलन से डरती है। 

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि जो मेरे शब्दों के पीछे लाठी लेकर चलते हैं, उनका इलाज आप सब (जनता) के पास है। आप सब संघर्ष करिए। उन नेताओं का सामाजिक बहिष्कार कीजिए, जो आपके हित में काम नहीं करते।’ ध्यान रहे कि राजद ने सुधाकर सिंह को नोटिस जारी कर उनसे 15 दिन में जवाब मांगा है।


Find Us on Facebook

Trending News