अब हेलो नहीं वंदे मातरम बोलेंगे सरकारी अधिकारी, सरकार ने जारी किया आदेश तो ओवैसी ने जताई आपत्ति

अब हेलो नहीं वंदे मातरम बोलेंगे सरकारी अधिकारी, सरकार ने जारी किया आदेश तो ओवैसी ने जताई आपत्ति

DESK. सरकारी कर्मचारी अगर एक दूसरे से अभिवादन में वंदे मातरम बोलते सुने जाएंगे तो यह सबके लिए अचरज का विषय हो सकता है। लेकिन ऐसा होगा। अब सरकारी कर्मचारियों के लिए एक राज्य सरकार ने यह आदेश जारी किया है। महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे सरकार ने बड़ा आदेश जारी किया है। नए आदेश के मुताबिक अब सरकारी अधिकारी हेलो की जगह वंदे मातरम बोल कर अभिवादन करेंगे। यानि कि जब भी आप महाराष्ट्र सरकार के अधिकारियों को फोन करेंगे तो वह हेलो की जगह आपको वंदेमातरम कहते सुनाई देंगे। इसके लिए सरकारी आदेश भी जारी कर दिया गया है। 

इससे पहले महाराष्ट्र के सांस्कृतिक मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने सरकारी अधिकारियों को फोन कॉल पर हेलो की जगह वंदे मातरम बोलने का आदेश दिया था। कुल मिलाकर देखें तो जब से महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली सरकार बनी है तब से लगातार कई बड़े निर्णय लिए जा रहे हैं। महाराष्ट्र सरकार का यह आदेश अधिकारियों के लिए सभी मोबाइल फोनों और लैंडलाइन फोनों पर लागू होगा। अपने डेली रूटीन में भी अधिकारी एक-दूसरे को वंदे मातरम से ही संबोधित करेंगे। इसको लेकर महाराष्ट्र सरकार में मंत्री दीपक केसरकर ने कहा कि वंदे मात्रा में एक ऐसा मंत्र है जिसने अंग्रेजो के खिलाफ देश को स्वतंत्र कराने में बड़ी भूमिका निभाई है। 

पूरे भारतवर्ष में सभी सरकारें और आम लोग इस बात को स्वीकार करते हैं। मुझे लगता है कि एक दूसरे को वंदे मातरम कहकर संबोधित करना कोई बुरी चीज नहीं है। इसके साथ ही महाराष्ट्र सरकार के मंत्री ने यह भी कहा कि जिनके मन में वंदे मातरम को लेकर गलतफहमी है, उन्हें भी हम समझा बुझा लेंगे। महाराष्ट्र सरकार ने अपने आदेश में यह भी कहा है कि अधिकारी उनसे मिलने आने वाले लोगों को भी वंदे मातरम से अभिवादन करें। साथ ही साथ इसके लिए जागरूकता भी फैलाएं।

हालांकि, महाराष्ट्र सरकार के इस आदेश पर राजनीति भी शुरू हो गई है। एआईएमआईएम के नेता वारिस पठान ने इस को लेकर सवाल उठाए हैं और कहा है कि यह सब सिर्फ बेरोजगारी, महंगाई से ध्यान भटकाने के लिए नाटक किया जा रहा है। उन्होंने सवाल पूछा कि मान लो किसी ने वंदेमातरम नहीं बोला तो क्या करेंगे, उस पर केस करेंगे, या फांसी दे देंगे यह भाजपा सरकार को बताना पड़ेगा। समाजवादी पार्टी के नेता अबू आजमी ने कहा कि वंदे मातरम पर सरकार के फैसले का वह विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे हिंदू मुस्लिमों के बीच दरार पैदा होगा। आजमी ने दावा किया कि बाला साहब ठाकरे ने हमेशा जय महाराष्ट्र बोला था और आज उनके विचारों पर चलने का दावा करने वाले एकनाथ शिंदे यह सब भूल गए हैं। आजमी ने दावा किया कि एक सच्चा मुसलमान कभी भी वंदेमातरम नहीं बोलेगा।


Find Us on Facebook

Trending News