कोरोना के कारण जारी हुआ स्कूलों को बंद करने का आदेश, देश में लगातार बढ़ रहे मरीज, बिहार में 24 घंटे में मिले 248 संक्रमित

कोरोना के कारण जारी हुआ स्कूलों को बंद करने का आदेश, देश में लगातार बढ़ रहे मरीज, बिहार में 24 घंटे में मिले 248 संक्रमित

DESK.  कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण एक बार फिर से स्कूलों को बंद करने का आदेश जारी होने लगा है. बिहार में भी कोरोना का खतरा लगातार गहराता जा रहा है. कोरोना के कारण पिछले 24 घंटों में जहाँ बिहार में एक व्यक्ति की मौत हो गई वहीं देश में एक दिन में मरने वालों का आंकड़ा 45 रहा. बिहार में मंगलवार को कोरोना संक्रमितों की संख्या 248 रही. इनमे 191 पटना के संक्रमित हुए. एम्स में नौ जुलाई से भर्ती समस्तीपुर के 62 वर्षीय अशोक कुमार सिंह की मौत हो गई।

देश में पिछले कुछ दिनों से लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण मणिपुर सरकार ने राज्य में अगले सप्ताह तक सभी स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया है. मणिपुर में सभी सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त, अन्य बोर्डों से संबद्ध निजी स्कूलों को जनहित में 24 जुलाई तक के लिए तत्काल प्रभाव से बंद किया गया है. यहां गर्मियों की छुट्टियों के बाद कई स्कूल 16 जुलाई से खुलने वाले थे. दरअसल, राज्य में संक्रमण दर 15 प्रतिशत के पार पहुंच गई है इसी कारण मणिपुर सरकार ने फ़िलहाल स्कूलों की खुलने पर रोक लगा दी है. 


भारत में पिछले 24 घंटों में संक्रमण से 45 मौतों की पुष्टि हुई. भारत में कोरोना संक्रमण का ग्राफ पिछले कई दिनों से ऊपर-नीचे जा रहा है. हालांकि अब तब इसके कोई घातक रिजल्ट सामने नहीं आए हैं, वो भी तब; जब एक्सपर्ट ने जुलाई में चौथी लहर आने का अलर्ट जारी किया था. वहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO) को भारत जैसे देशों में कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट के एक नए उप-वंश BA.2.75 का पता चला है. इस समय भारत में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या 1.32 लाख को पार कर गई है. इस बीच नए केस एक बार फिर से बढ़कर 16000 क्रॉस कर गए. इससे पिछले दिन यही आंकड़ा 13000 के करीब था. पॉजिटिविटी रेट 3.68 प्रतिशत दर्ज की गई.

बिहार में पिछले 24 घंटों के दौरान जो 248 संक्रमित पाए गए उनमें दो नवजात भी हैं. दोनों होम आइसोलेशन में हैं. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) पटना में एक तीन महीने के बच्चे समेत 17 मरीज भर्ती हैं. वहीं राज्य के कई अन्य जिलों में भी लगातार मरीज सामने आ रहे हैं. हालांकि राहत की बात है कि ज्यादातर में लक्षण आने के बाद वे तेजी से स्वस्थ भी हो रहे हैं. 


Find Us on Facebook

Trending News