शराब तस्करों से पैसे लेते पकड़े गए दारोगा, जेल भेजने की तैयारी, एक माह पहले भी हुई थी कार्रवाई

शराब तस्करों से पैसे लेते पकड़े गए दारोगा, जेल भेजने की तैयारी, एक माह पहले भी हुई थी कार्रवाई

मुजफ्फरपुर। शराब माफियाओं के पैसों की डील करते हुए करथा थाना के प्रभारी करते हुए मद्य निषेध विभाग ने हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है उक्त दारोगा स्प्रिट से भरे टैंकर से पैसों की मांग कर रहा था। इसी दौरान विभाग ने उन्हें पकड़ लिया है। वहीं एक अन्य मामले में विभाग ने एक चौकीदार को भी नशे की हालत में गिरफ्तार किया है। हिरासत में लिए गए दारोगा का नाम ब्रज किशोर यादव बताया गया है।

मामले में मिली जानकारी के अनुसार मद्य निषेध विभाग को पहले से ही इस डील की जानकारी मिली थी, जिसके बाद संबंधित दारोगा पर निगरानी रखी जा रही थी। इसी क्रम में शनिवार अलहे सुबह शराब माफियाओं के साथ साठगांठ और शराब बनाए जाने वाले एक टैंकर कच्ची स्प्रिट और कैश के साथ पकड़ा गया। जिसके बाद उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ के बाद जेल भेजने की तैयारी की जा रही है। 

आदत से मजबूर हैं दारोगा

यहां जिस दारोगा को पैसे लेते हुए पकड़ा गया है. उन पर पहले भी कार्रवाई की गई है। बताया गया कि ब्रज किशोर यादव पर करजा थाना से पूर्व जिले के सदर थाने में पोस्टिंग थी। लगभग एक माह पहले उन पर थाना क्षेत्र के भगवानपुर ओवर ब्रिज के नीचे भैंस व्यापारी से दो लाख रुपए छीनने का आरोप लगा था। इन पैसों को लेकर वह फरार हो गए थे। मामले  ओवरब्रीज के पास लगे सीसीटीवी से इस पूरी घटना की सच्चाई सामने आने के बाद मुजफ्फरपुर पुलिस कप्तान ने उन्हें करजा थाना में भेज दिया था। लेकिन आदत से मजबूर दारोगा ने यहां भी रिश्वतखोरी का धंधा शुरू कर दिया।

शराब से मौत पर हो रही है जांच

इसे दारोगा की हिम्मत ही कही जाएगी, कि राज्य में तीन दिन पहले ही एक पुलिसकर्मी की शराब तस्करों ने हत्या कर दी है। जिसके बाद बिहार में शराब को लेकर राजनीति गरमाई हुई है। वहीं मुजफ्फरपुर जिले में ही एक सप्ताह पहले देसी शराब से हुई मौत की जांच की जा रही है। उसी जिले में एक पुलिसकर्मी द्वारा शराब माफियाओं से पैसे लिया जा रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News