पटना का ये 'थानेदार' है या गुंडा? पब्लिक को एक सांस में देता है 1 हजार गाली, थाने में आत्मदाह की दी धमकी तब जाकर लिया केस

पटना का ये 'थानेदार' है या गुंडा? पब्लिक को एक सांस में देता है 1 हजार गाली, थाने में आत्मदाह की दी धमकी तब जाकर लिया केस

PATNA : सुशासन की पुलिस की अपराधियों के सामने घिग्घी बंध जाती है। वही पुलिस आम पब्लिक के सामने अपने आप को तुर्रम खां साबित करने में जुट जाती है। पटना पुलिस का ऐसा ही  क्रूर चेहरा सामने आया है। पुलिस ने एक सरकारी कर्मी को थाने में 4 घंटे तक बिठाकर प्रताड़ित किया। मां-बहन की हजारों गालियां दी। पीड़ित का कसूर सिर्फ इतना ही था कि वह थाने में केस दर्ज कराने के लिए आवेदन लेकर पहुंचा था। पुलिस जब केस दर्ज करने का आवेदन लेने से इंकार कर दी तो पीड़ित सरकारी कर्मी केस दर्ज कराने की जिद पर अड़ गए। फिर क्या था...उस सरकारी कर्मी को थाने में बिठाकर भारी बेइज्जती की कई। एक सांस में हजारों गालियां दी गयी। विवाद बढ़ता देख और थाने में आत्मदाह की धमकी देने के बाद केस तो दर्ज हुआ लेकिन एक दरोगा की वजह से एक बार फिर से पटना पुलिस का दामन दागदार हो गया।

पूरा मामला पटना के बिक्रम का है। बिक्रम थाना के थानाध्यक्ष ऋतुराज चर्चा में आ गए हैं।  बिक्रम थाना में पोस्टेड थानेदार अपनी वर्दी की गर्मी में एक सरकारी पदाधिकारी के साथ जिस तरह व्यवहार किया वह किसी भी सभ्य समाज के लिए शोभा नहीं देता। बताया जाता है कि बिक्रम थाना के मोरियामा गांव के अभय कुमार जो कि बिहार सरकार के कृषि विभाग के सहायक तकनीक प्रबंधक के रूप में हरनौत ब्लॉक में पद स्थापित है। 19 जुलाई को अभय कुमार के घर से उनकी सरकारी टैब के अलावा एक बाइक चोरी हो गई। जब वे केस करने थाना गए तो थानेदार द्वारा उनके साथ बदतमीजी की गई।थाने में 4 घंटे तक बिठाकर बदतमीजी और गाली गलौज किया गया। मां-बहन की हजारों गालियां दी गयी। थानेदार के सामने ही पीड़ित शख्स ने कहा कि मेरे साथ थाने में भारी बेइज्जती और गाली-गलौच की गई है। 4 घंटे तक बिठाकर रखा गया। जब आत्मदाह की धमकी दी तब जाकर केस लिया गया। जिसका वीडियो उनके साथ गए एक व्यक्ति ने बनाया है। अभय कुमार ने बताया कि वह इसकी शिकायत जिलाधिकारी पटना के साथ-साथ वरीय आरक्षी अधीक्षक से भी करेंगे।

इस संबंध में बिक्रम थानाध्यक्ष ऋतू राज ने बताया कि क्योंकि सरकारी टैब के जुड़ा का मामला है इसलिए उनसे विस्तृत पूछताछ की जा रही थी।वहीं पालीगंज SDPO ने बताया कि पीड़ित का केस दर्ज हो गया है। बिक्रम थानाध्यक्ष द्वारा गाली और दुर्व्यवहार मामले पर उन्होंने कहा कि ऐसा आरोप है इसकी जांच की जाएगी।

पटना से सुमित कुमार की रिपोर्ट 

 

Find Us on Facebook

Trending News