पटना के मजनू अब हो जाएं सावधान, नीतीश सरकार ने लपेटने की कर ली है पूरी तैयारी

PATNA: राजधानी पटना में लड़कियों-महिलाओं से छेड़खानी की घटना से परेशान नीतीश सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. लडकियों से छेड़खानी रोकने के लिए नीतीश सरकार ने सेफ सिटी सर्विलांस पर काम शुरू कर दिया है. इसके तहत पुलिस-प्रशासन सीसीटीवी से पूरे शहर की निगरानी करेगी. इसकी शुरूआत बिहार की राजधानी पटना से होगी. सेफ सिटी सर्विलांस पर बिहार सरकार ने मुहर लगा दी है.

क्या है सेफ सिटी सर्विलांस

राजधानी पटना को सेफ बनाने के लिए राज्य सरकार ने सेफ सिटी सर्विलांस लागू किया है. इसके तहत पूरी राजधानी को सीसीटीवी से नजर रखी जाएगी. हर चौक-चौराहे, गली मुहल्लों सार्वजनिक स्थानों, शैक्षणिक संस्थानों के आसपास सीसीटीवी लगाए जायेंगे. कंट्रोल रूम में बैठे अधिकारी क्लोज सर्किट टीवी के माध्यम से सभी जगहों की निगरानी रखेंगे. महिलाओं से छेड़खानी रोकने और अपराध पर नकेल कसने के लिए इस योजना को मूर्त रूप दिया गया है.

राज्य सरकार ने जारी की राशि

बिहार कैबिनेट ने पटना जिले से इसकी शुरूआत कर रही है. इसमें पटना रेल को भी शामिल किया गया है. गृह विभाग के प्रस्ताव पर आज नीतीश कैबिनेट ने मुहर लगा दी है. इस परियोजना के लिए 110 करोड़ 67 लाख रू जारी भी कर दिए हैं. इस काम को कराने की जिम्मेदारी पटना स्मार्ट सिटी परियोजना को दी गई है. बिहार के कैबिनेट विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि यह परियोजना काफी महत्वपूर्ण है. इसके अमल में आनें से महिलाओं की छेड़खानी की घटना में कमी आएगी. 


Find Us on Facebook

Trending News