बांका में राहगीरों से लूटपाट करनवाले गिरोह का पुलिस ने किया उद्भेदन, हथियार और जिन्दा कारतूस के साथ 4 बदमाशों को किया गिरफ्तार

बांका में राहगीरों से लूटपाट करनवाले गिरोह का पुलिस ने किया उद्भेदन, हथियार और जिन्दा कारतूस के साथ 4 बदमाशों को किया गिरफ्तार

BANKA : बांका टाउन थाना क्षेत्र अंतर्गत बांका -देवघर मार्ग में लगभग एक सप्ताह से राहगीरों को लूटने वाला गिरोह सक्रिय होकर लगभग आधे दर्जन राहगीरों के साथ लूटपाट किया था। लूटपाट की इस बढ़ती घटना को लेकर बांका पुलिस की नींद हराम हो गई थी।  लेकिन बांका पुलिस ने राहगीरों को लूटने वाले शातिर अपराधियों को पकड़ने का पूर्ण रूप से मुहिम छेड़ दिया। 

परिणाम स्वरूप रविवार को सरगना के चार अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त किया। इस आशय की जानकारी रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर एसडीपीओ बिपिन बिहारी ने देते हुए बताया की कुछ दिनों से बांका - कटोरिया देवघर मार्ग में राहगीरों से लूट की घटना को अंजाम देने के लिए गिरोह सक्रिय हो गया था। अपराध के बढ़ते इस घटना को देखकर पुलिस अधीक्षक डॉक्टर सत्य प्रकाश के निर्देश पर एसडीपीओ बिपिन बिहारी के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। जिसके माध्यम से सरगना के  सभी सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है।

उन्होंने बताया के अपराधियों द्वारा 3 नवंबर, 5 नवंबर एवं 7 नवंबर को बांका कटोरिया रोड में आने- जाने वाले राहगीरों को रोककर उससे मोबाइल, कैश एवं अन्य समान लूटने का काम किया जा रहा था। इसी के मद्देनजर बांका टाउन थाना अध्यक्ष शंभू यादव, एएसआई अभिनंदन कुमार सिंह, रीता कुमारी , छोटू कुमार, आलोक कुमार , शिव कुमार सुमन , डीएन यादव, सुमन कुमारी ठाकुर एवं जांबाज पुलिस बलों की टीम गठित कर वैज्ञानिक तरीके से अनुसंधान करते हुए घटना में शामिल अपराध कर्मियों को गिरफ्तार करने के लिए जाल बिछाया गया। 

इस दौरान इस कांड के मुख्य सरगना चंदन कुमार को बांका थाना कांड संख्या दिनांक  699 / 22 में लूटी गई मोबाइल के साथ गिरफ्तार किया गया। उसी के निशानदेही एवं स्वीकारोक्ति बयान के आधार पर वैज्ञानिक अनुसंधान कर इस कांड में संलिप्त अपराधी सुमन कुमार उर्फ सिंपल सिंह को वाहन चेकिंग के दौरान टाउन थाना क्षेत्र अंतर्गत कांटेली मोड़ के निकट गिरफ्तार किया गया। जिसके पास से एक देसी कट्ठा एवं 315 का दो जिंदा कारतूस  लूट कांड में प्रयोग लाने वाला मोटरसाइकिल के साथ उसे गिरफ्तार किया । इसी की निशानदेही पर इसके साथी गौरव कुमार एवं नीतीश कुमार को भी गिरफ्तार किया गया। इस तरह से इस कुख्यात  लुटेरा गिरोह का पर्दाफाश किया गया। साथ ही इन लोगों से एक देसी कट्टा, दो जिंदा कारतूस , तीन मोटरसाइकिल , तीन मोबाइल फोन तथा लगभग ₹51 हजार रुपए नगद बरामद किया गया। एसडीपीओ ने बताया कि गिरोह के सदस्यों को न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया है।

बांका से चंद्रशेखर कुमार भगत की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News