पटना डीएम की अध्यक्षता में प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग ग्रुप की बैठक, कार्यकारी एजेंसियों को जल्द योजनाओं का क्रियान्वयन करने का दिया निर्देश

पटना डीएम की अध्यक्षता में प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग ग्रुप की बैठक, कार्यकारी एजेंसियों को जल्द योजनाओं का क्रियान्वयन करने का दिया निर्देश

पटना. डीएम डॉ. चन्द्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में मंगलवार को समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में परियोजना अनुश्रवण समूह (प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग ग्रुप) की बैठक हुई। बैठक में उन्होंने जिले में चल रही 30 से अधिक परियोजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की तथा अद्यतन प्रगति का जायजा लिया। इस दौरान डीएम ने कार्यकारी एजेंसियों को कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया।

बैठक में पटना डीएम ने विभिन्न केन्द्रीय योजनाओं एनएचएआई, रेलवे, एनटीपीसी के साथ विभिन्न राज्य योजनाओं पथ निर्माण विभाग, पुल निर्माण विभाग, भवन प्रमण्डल एवं जल संसाधन विभाग की विभिन्न राज्य-सम्पोषित परियोजनाओं की विस्तृत समीक्षा की। बाढ़ से बख्तियारपुर थर्ड नई बड़ी रेल लाईन निर्माण परियोजना में कुल 6 ग्राम-करनौती, माधोपुर, मोहम्मदपुर, महमदपुर, रानी सराय एवं शबनीमा में कुल 12.2415 एकड़ भूमि अधिग्रहण किया गया है। समाहर्त्ता के द्वारा भुगतान में तेजी लाने का निदेश दिया गया। डीएम डॉ. सिंह ने इस परियोजना में एक माह के अंदर मुआवजा भुगतान की प्रक्रिया पूर्ण कर लेने का निर्देश दिया है।

वहीं एनटीपीसी, बाढ़ अंतर्गत परियोजना में प्रगति अच्छी पायी गई। जिला भू-अर्जन पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि एनटीपीसी, बाढ़ को 40 मौजा में अर्जित भूमि का ग्रामवार मूल्यांकन पंजी की छायाप्रति उपलब्ध करायी गयी है। एनटीपीसी, बाढ़ के उप महाप्रबंधक के द्वारा बताया गया कि स्टॉर्म वाटर ड्रेनेज का कार्य पूरा हो चुका है। एनटीपीसी परियोजना अंतर्गत ग्रामों की जमीन का म्युटेशन कार्य प्रगति पर है। डीएम डॉ. सिंह ने इसे शीघ्र पूरा करने का निर्देश दिया है। 

वहीं डीएम डॉ. सिंह ने एनएचएआई के अधीन बख्तियारपुर-मोकामा फोरलेन फेज-1 (एनएच-31) परियोजना का कार्य जून, 2023 तक पूर्ण कर लेने का निर्देश दिया। इस परियोजना अंतर्गत कुल 39 ग्रामों में 587.36 एकड़ भूमि अर्जित है। 1272 प्लॉट में शत-प्रतिशत भुगतान हो गया है। दानापुर-बिहटा एलिवेटेड रोड परियोजना में कुल 21 ग्रामों में कुल रकबा 108.984 एकड़ भूमि अर्जन की कार्रवाई की जा रही है। इसमें 65.9245 एकड़ भूमि की अधियाचना प्राप्त है। शेष 43.0595 एकड़ भूमि पटना-बक्सर एनएच-30-84 की अर्जित भूमि पर निर्माण कार्य किया जाना है। एनएचएआई के द्वारा थ्रीजी प्रस्ताव पर स्वीकृति उपलब्ध करा दी गई है। भवन निर्माण के द्वारा 374 संरचना की सूची में से 100 का प्रतिवेदन भेजा गया है। भवन निर्माण विभाग के अभियंता को शेष बचे हुए सभी संरचना का प्रतिवेदन शीघ्र उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया है।

वहीं औरंगाबाद-दरभंगा एक्सप्रेस-वे (भारतमाला आमस-रामनगर खण्ड) एनएच-119डी परियोजना में 12 मौजा में 205.25 एकड़ भूमि अर्जित की गई है। डीएम डॉ. सिंह ने जिला भू-अर्जन पदाधिकारी को मुआवजा भुगतान में तेजी लाने का निर्देश दिया। साथ ही पटना डीएम ने फतुहा-हरनौत-बाढ़ दनियावां बाईपास एनएच-30 ए परियोजना में तेजी लाने का भी निर्देश दिया। इस परियोजना अंतर्गत कुल 8 ग्रामों में 61.99 एकड़ भूमि अर्जित की गई है। 541 रैयतों के बीच मुआवजा भुगतान किया जा चुका है। 

गंगा जल उदवाह परियोजना में कुल 05 मौजा में 23.67 एकड़ भूमि का अर्जन किया गया है। 171 रैयतों के बीच मुआवजा राशि का भुगतान किया गया है। इस परियोजना में मोकामा से गया तक प्रोजेक्ट की कुल लंबाई 147 किमी है। इसमें पटना जिला अंतर्गत 24 किलोमीटर है। इसमें मोकामा एवं घोसवरी के दो अंचल के 6 गांव आते हैं। मोकामा अंचल में 11 किलोमीटर और घोसवरी अंचल में 13 किलोमीटर की लंबाई है। 24 किलोमीटर के इस प्रोजेक्ट में 18 किलोमीटर में कार्य पूरा हो चुका है। शेष 6 किलोमीटर में शीघ्र कार्य पूर्ण करने का निदेश दिया गया। डीएम डॉ. सिंह ने भूमि सुधार उप समाहर्त्ता बाढ़ को अंचलाधिकारियों से प्राप्त आवेदन पत्र को पूर्ण समीक्षा कर अनुशंसा के साथ जिला भू-अर्जन कार्यालय को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।                           

Find Us on Facebook

Trending News