शादी के दस साल बाद याद आया हमारी तो 'पकड़ुआ विवाह' हुई थी, पहली पत्नी को छोड़ दूसरी को लाया घर

शादी के दस साल बाद याद आया हमारी तो 'पकड़ुआ विवाह' हुई थी, पहली पत्नी को छोड़ दूसरी को लाया घर

NAWADA : जिल के कौआकोल थाने में एक लोको पायलट द्वारा पहली पत्नी के रहते दूसरी शादी कर लेने का मामला सामने आया है। जिसमें पहली पत्नी ने पति पर आरोप लगाया है कि उन्होंने मुझे घर से निकाल दिया है और सारे गहने जेवर भी छिन लिए हैं। वहीं दूसरी तरफ पति ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है। पति का कहना है कि वह जिस शादी की बात कर रही है, वह उस विवाह को नहीं मानते हैं, क्योंकि वह शादी जबरदस्ती बंदूक के नोंक पर करवाई गई थी। फिलहाल, पुलिस पूरे मामले में उचित कार्रवाई करने की बात कर रही है।

दस साल बाद याद आया पकड़वा विवाह का

मामला में बताया गया कि कौआकोल थाना क्षेत्र के जोरावरडीह गांव के गोरेलाल मंडल के पुत्र पंकज कुमार की शादी 2012 में बरबीघा के जगजीवनपुर के राधे माता की पुत्री सोनी कुमारी से हुई थी। इस शादी को लेकर रेलवे में लोको पायलट पंकज कुमार का कहना है कि जून महीना 2012 में लड़की के जीजा अरविंद मंडल के द्वारा बर्थडे पार्टी में बुलाकर हमारा पकड़वा ब्याह करा दिया गया था। देवघर के मंदिर में ले जाकर विवाह कराया गया था। जिसके बाद विवाह होने के अगले ही दिन हम लड़की को छोड़कर अपनी ड्यूटी के लिए बिलासपुर चले गए थे। और हम रखना नहीं चाहते थे। मेरे परिवार के लोगों ने इसका बहुत विरोध भी किए लेकिन उन लोगों के द्वारा केस मुकदमा का धमकी देते हुए कोर्ट में भी दोनों तरफ से केस किया गया

रिश्ते में मौसी लगती थी सोनी

पंकज कुमार ने बताया कि पकड़वा विवाह में जिस लड़की से शादी करवाई गई, वह रिश्ते में मेरी मौसी लगती थी। सोनी के जीजा ने ही पकड़ुआ विवाह करवा कर पूरी रिश्ता को शर्मसार कर दिया। पंकज का आरोप है कि सोनी की अवैध रिश्ता अपने ही जीजा के साथ है और दोनों बच्चे भी उनके नहीं हैं। पंकज ने बताया कि मुझ पर सारे आरोप गलत लगाए जा रहे हैं। 

पत्नी ने आरोपों को बताया गलत

वहीं पत्नी सोनी ने कहा है कि पति के द्वारा गलत आरोप लगाया जा रहा है। पति हमारे दूसरा शादी किए हैं और हम दोनों के बीच मोहब्बत चलती थी। उसके बाद हम लोगों ने शादी रचाए। सोनी ने कहा कि जीजा के साथ संबंध होने की बाद बिल्कुल गलत है। पति किसी भी हद तक गिर जाते हैं और मेरे पर बेबुनियाद आरोप लगाते हैं। मैं दो बच्चे की लेकर भटक रही हूं मेरा सहारा कोई नहीं है।

दस साल क्यों किया इंतजार 

घटना के संबंध में पीड़िता सोनी देवी ने गुरुवार को कौआकोल थाना आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है। पत्नी का कहना है कि दस साल तक हमारे बीच बेहतर संबंध रहे हैं। लेकिन अब पति उसे साथ नहीं रखना चाहता है।

Find Us on Facebook

Trending News