बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • स्टेशन पर खड़ी मालगाड़ी बिना लोको पायलट और सिग्नल के ही लगी चलने, मची अफरातफरी
  • स्टेशन पर खड़ी मालगाड़ी बिना लोको पायलट और सिग्नल के ही लगी चलने, मची अफरातफरी

  • पीपुल्स फैंडली पुलिस की करतूत,  खाकी वाले ने पहले युवक को दौड़ाया, फिर कस कर की कुटाई, गाली गौलौज ऐसा की शर्म भी शरमा जाए
  • पीपुल्स फैंडली पुलिस की करतूत, खाकी वाले ने पहले युवक को दौड़ाया, फिर कस कर की कुटाई,

  • पटना में नियोजित शिक्षकों का बवाल, के.के पाठक का दिल्ली दौरा, शिक्षा मंत्री और सीएम के प्रधान सचिव का फोन नहीं उठा रहे ACS, जानिए क्या है पूरा मामला
  • पटना में नियोजित शिक्षकों का बवाल, के.के पाठक का दिल्ली दौरा, शिक्षा मंत्री और सीएम के प्रधान सचिव

  • पटना में आज नियोजित शिक्षक करेंगे आंदोलन, सक्षमता परीक्षा के पहले एडमिट कार्ड जला करेंगे विरोध
  • पटना में आज नियोजित शिक्षक करेंगे आंदोलन, सक्षमता परीक्षा के पहले एडमिट कार्ड जला करेंगे विरोध

  • मोतिहारी में एचएम और डीपीएम के बीच जमकर चलें लात घूंसे, वीडियो सोशल मीडिया में हुआ वायरल
  • मोतिहारी में एचएम और डीपीएम के बीच जमकर चलें लात घूंसे, वीडियो सोशल मीडिया में हुआ वायरल

  • बांका में अवैध खनन रोकने गए दारोगा और सिपाही पर बालू माफियाओं ने कुल्हाड़ी से किया, जब्त बालू लदे ट्रैक्टर लेकर हुए फरार
  • बांका में अवैध खनन रोकने गए दारोगा और सिपाही पर बालू माफियाओं ने कुल्हाड़ी से किया, जब्त बालू

  • गया में अनियंत्रित वाहन की चपेट में आने से सरकारी शिक्षक की हुई मौत, परिजनों में मचा कोहराम
  • गया में अनियंत्रित वाहन की चपेट में आने से सरकारी शिक्षक की हुई मौत, परिजनों में मचा कोहराम

  • पुण्यतिथि पर याद किए गए अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के भूतपूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि नंदन सहाय, रविशंकर प्रसाद और आरके सिन्हा ने दी श्रद्धांजलि
  • पुण्यतिथि पर याद किए गए अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के भूतपूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि नंदन सहाय, रविशंकर प्रसाद

  • खगड़िया में रंग लायी जदयू विधायक डॉ. संजीव की पहल, 9 करोड़ की लागत से 100 एकड़ जमीन होगा विकसित, उद्योग लगाने के लिए होंगे आवंटित
  • खगड़िया में रंग लायी जदयू विधायक डॉ. संजीव की पहल, 9 करोड़ की लागत से 100 एकड़ जमीन

  • सीएम योगी की कार के आगे चल रही एंटी डेमो गाड़ी पलटी, हादसे में पांच पुलिसकर्मी सहित नौ लोग बुरी तरह से चोटिल
  • सीएम योगी की कार के आगे चल रही एंटी डेमो गाड़ी पलटी, हादसे में पांच पुलिसकर्मी सहित नौ

घर 100 किलोमीटर दूर रहकर अपनी किस्मत के 'धागे' को मजबूत कर रही हैं अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र की महिलाएं

घर 100 किलोमीटर दूर रहकर अपनी किस्मत के 'धागे' को मजबूत कर रही हैं अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र की महिलाएं

GAYA : कभी नक्सली इलाके में अपनी जिदंगी गुजारनेवाली महिलाएं अब अपने पैरों पर खड़े होने के लिए तैयार हैं। वह न सिर्फ अपने घर से बाहर निकली हैं. बल्कि 100 किलोमीटर दूर रहकर सिलाई का प्रशिक्षण हासिल कर रही हैं. ताकि वह स्वरोजगार कर न सिर्फ अपने पैरों पर खड़े हो सके। साथ ही गांव की नक्सली छवि को भी खत्म करने में कामयाब हो सके।

दरअसल, गया में इन दिनों अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र इमामगंज डुमरिया के महिलाएं अपने इलाके से 100 किलोमीटर दूर रहकर सिलाई का प्रशिक्षण प्राप्त कर रही हैं। गया के पीएनबी के माध्यम से चलाए जा रहे आरसिटी में सभी को प्रशिक्षण दिया जा रहा है,आर सी टी के डायरेक्टर सुनील कुमार की कौशल नेतृत्व में सभी बच्चियों एवं महिलाओं को महिला ट्रेनर के माध्यम से प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 

प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं महिलाओं ने बताया की पीएनबी आरसीटी की इस पहल से हमलोग काफी खुश हैं क्योंकि हमलोग को बिना शुल्क का ही सिलाई सिखाई जा रही है।क्योंकि कोरोना जैसे महामारी और लॉकडाउन कि वजह से हम और हमारे परिवार को आर्थिक मार झेलना पड़ा। लेकिन अब सिलाई सीखने के बाद अपने अपने गांव में जाकर रोजगार करेंगे और कार्य करने का मौका मिलेगा इसके लिए सरकार से थोड़ी लोन की जरूरत पड़ सकती है।

30-35 महिलाओं का बैच

इस प्रशिक्षण में इमामगंज डुमरिया मैगरा गुरारू गुरुआ परैया कोच जैसे प्रखंड से महिलाएं 30 दिन रह कर अपना प्रशिक्षण प्राप्त कर रही हैं। वही आरसिटी के द्वारा सभी को खाने और रहने की मुकम्मल व्यवस्था की गई है। महिला प्रशिक्षक सुमंती देवी ने बताया कि यहां सिलाई सीखने वाले महिला एवं बच्चियों काफी जुनून और उत्साह के साथ सीख रहे हैं। 

आरसीटी के डायरेक्टर सुनील कुमार ने कहा कि फिलहाल सिलाई सीखने वाली महिलाओं का 2 बैच को प्रशिक्षण दिया जा रहा है जिसमें प्रत्येक बैच में 35 बच्चियां शामिल है। उन्होंने कहा  सिलाई सीखने के बाद सरकार की मदद से अपने अपने गांव में जाकर महिलाओं को स्वरोजगार बनने का मौका मिलेगा वहीं दूसरी तरफ प्रोजेक्ट उन्नति,मनरेगा मजदूरों एवम बाराचट्टी के महिलाओं को बकरी पालन का दस दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा रहा है।