हड़ताली और एजेंसी के सफाई कर्मी आपस में भिड़े, फोटो ले रहे मीडिया कर्मियों से की बदसलूकी

हड़ताली और एजेंसी के सफाई कर्मी आपस में भिड़े, फोटो ले रहे मीडिया कर्मियों से की बदसलूकी

CHHAPRA : नगर निगम सफाई कर्मियों की हड़ताल के तीसरे दिन एजेंसी निगम और एजेंसी के सफाई कर्मियों के  बीच जमकर नोकझोंक और हाथापाई हुई। इसकी फोटोग्राफी कर रहे मीडिया कर्मियों से भी सफाई कर्मियों ने बदसलूकी की। उधर हड़ताल के कारण शहर की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई। नगर निगम सफाई कर्मियों ने प्राइवेट एजेंसी के सफाई कर्मियों को सफाई कार्य करने से रोका इससे शहरवासियों को और परेशानी बढ़ गई। तीसरे दिन हड़ताली सफाई कर्मियों ने नगरपालिका चौक पर जमकर प्रदर्शन और नारेबाजी की, शहर में जुलूस भी निकाला।

एनजीओ के कर्मियों को भी रोका

हड़ताली सफाई कर्मियों ने एनजीओ के सफाई कर्मियों को भी कार्य करने से रोक दिया है ना तो उनके वाहन निकलने दे रहे हैं और ना ही सफाई कर्मियों को नगर निगम में प्रवेश करने दे रहे हैं. सफाई कर्मियों का कहना है कि हड़ताल मतलब हड़ताल कोई काम नहीं होगा. ऐसे में पूरी तरह से सफाई व्यवस्था चौपट हो गई है. हड़ताली सफाई कर्मी छोटे अफसरों की बात सुनने को तैयार नहीं है और बड़े अफसर हैं कि उनसे वार्ता नहीं कर रहे हैं.

अफसरों के आवास और कार्यालयों में भी सफाई ठप

हड़ताल का असर अफसरों के आवास और कार्यालय में भी देखने को मिल रहा है. जानकारी हो कि नगर निगम के कई सफाई कर्मी अफसरों और सरकारी कार्यालयों में सफाई के लिए प्रतिनियुक्त है इनमें जिले और प्रमंडल स्तर के भी  अधिकारी शामिल हैं हड़ताल से कार्यालय तो कार्यालय इनके वॉशरूम और शौचालय तक साफ नहीं हो रहे हैं. बड़े अफसर नगर निगम के अफसरों से फोन कर हड़ताल को तुड़वाने के लिए दबाव दे रहे हैं।

निर्णय होने तक हड़ताल जारी रहेगा

लोकल बॉडीज इंप्लाइज फेडरेशन के अध्यक्ष सियाराम सिंह ने कहा  कि निगम कर्मियों को वेतनमान नहीं मिल रहा है, एसीपी, प्रोन्नति का लाभ नहीं मिल रहा है। इतना ही नहीं सफाई कर्मियों को सफाई का उपकरण व वर्दी नहीं दिया जा रहा है। अन्य मांगों पर भी विचार नहीं किया जा रहा है। इससे बड़ा प्रताड़ना क्या हो सकता है। नगर निगम के करीब चार सौ से अधिक सफाई कर्मियों के हड़ताल पर चले जाने से शहर का सफाई कार्य प्रभावित हो गया है। तीसरे दिन तो स्थिति और दयनीय हो गई है। प्रदर्शन करने वालों में माया देवी, संतोषी देवी, मालती देवी, राधा देवी, गीता देवी, दीपमाला, रमेश प्रसाद, दुर्गा देवी, मुन्नी देवी, गिरधारी राम, राजन बांसफोड, जंगली, धर्मेंद्र डोम, वीरेंद्र कुमार, गौतम राम, शीला देवी, सीमा देवी, रेशमा देवी, पूनम देवी, बसंती, गीता, उषा देवी, रूबी देवी, गौरी देवी, तेतरी देवी , दुर्गावती आदि थे।

Find Us on Facebook

Trending News