बिहार में बिगड़े कानून व्यवस्था पर भड़के तेजस्वी, सीएम के चहेती मंत्री लेसी सिंह को बर्खास्त करने की मांग

बिहार में बिगड़े कानून व्यवस्था पर भड़के तेजस्वी, सीएम के चहेती मंत्री लेसी सिंह को बर्खास्त करने की मांग

PATNA : बिहार में लगातार खराब हो रहे कानून व्यवस्था को लेकर बिहार के नेता प्रतिपक्ष बिहार सरकार को एक बार फिर से निशाने पर लिया है। एक दिन पहले दिल्ली से पटना लौटे तेजस्वी यादव ने पूर्णिया में जिस तरह के पूर्व जिला पार्षद की हत्या की गई है, उसको लेकर सरकार के काम पर जमकर हमला किया है। 

तेजस्वी ने कहा है कि बिहार में कानून की क्या स्थिति है यह इस बात से समझा जा सकता है पूर्व जिला पार्षद अपने ऊपर हुए हमले की शिकायत पुलिस के पास की, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई करना तो दूर इस पर मामला तक दर्ज नहीं किया गया। नतीजा यह हुआ कि रिंटू सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई। तेजस्वी ने कहा कि इस मामले में मृतक के परिजन सीधे सीधे सीएम की चहेती मंत्री लेसी सिंह और उनके भतीजे पर हत्या का आरोप लगा रहा है, लेकिन बिहार सरकार कार्रवाई के नाम पर सिर्फ संबंधित थाना के थानाध्यक्ष को संस्पेंड कर दिया जाता है
 सामने आएं लेसी सिंह

तेजस्वी ने कहा कि मुझ पर हत्या के आरोप लगे तो मैंने खुद सरकार से मांग की थी कि वह इसकी जांच कराएं, लेकिन अब मैं कहना चाहता हूं कि अगर लेसी सिंह में इतनी हिम्मत है तो वह सामने आएं और अपने बेगूनाह होने का सबूत दें। तेजस्वी ने कहा कि रिंटू सिंह के परिवार ने सीबीआई जांच की मांग की है। अगर मुख्यमंत्री वाकई गंभीर हैं तो वह इसकी जांच करवाएं। साथ ही लेसी सिंह के फोन की सीडीआर रिपोर्ट निकाली जाए। साफ पता चल जाएगा कि लेसी सिंह और थानेदार के बीच कितनी बार बात हुई है। अगर लेसी सिंह वाकई में इमानदार हैं तो सामने आकर उन्हें इस्तीफा देना चाहिए। 

क्यों नहीं कर रहे कार्रवाई

तेजस्वी यादव ने कहा कि रिंटू सिंह के परिवार ने सीधा आरोप लगाया है कि लेसी सिंह और उनके भतीजे ने हत्या की है, तो अब किस बात का इंतजार किया जा रहा है। क्यों पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर रही है। 

बर्खाश्त करें लेसी सिंह को

तेजस्वी ने कहा कि अगर आरोप लगे हैं तो मुख्यमंत्री को पूरी घटना की जांच इमानदारी से करानी चाहिए। लेकिन नीतीश कुमार जी ऐसा नहीं करेंगे, क्योंकि यहां मामला उनकी चहेती मंत्री से जुड़ा है। हमारी मांग है कि लेसी सिंह को तत्काल मंत्री के पद से बर्खास्त किया जाए। नीतीश कुमार जी एक टाइम फेम करें कि अपने चहेती मंत्री लेसी सिंह को हटायेंगे की नहीं। यह जबाब नीतीश कुमार जी को सामने आकर देना चाहिए।

बिहार में गैंग्स ऑफ नीतीश कुमार

तेजस्वी ने कहा कि गैंग्स ऑफ वासेपुर की चर्चा हमलोग सुनते थे लेकिन यहां गैंग्स ऑफ नीतीश कुमार हो गया है। अगर पूरे मंत्रिमंडल की जांच की जाय तो ज्यादातर मंत्री जेल में होंगे। पूरा jdu गड़बड़ है। इतने घोटाले हो गए कोई जांच नहीं। उन्होंने कहा हाल के दिनों में कई घटनाएं हुईं जिनपर जांच होनी चाहिए थी लेकिन नहीं हुई। सत्ता संरक्षण में हत्याएं हुई।

किसी मामले में नहीं हुई कार्रवाई

तेजस्वी ने कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठाते हुए कहा कि इस साल 500 व्यावसायियों की हत्या हो गई है। शनिवार को मधुबनी में एक पत्रकार को सिर्फ इसलिए जिंदा जला दिया गया कि क्योंकि वह अस्पताल में चल रही गड़बड़ी को उजागर कर रहा था। इसी तरह से पूर्व मंत्री रघुनाथ झा के भतीजे की हत्या हुई। अमरेंद्र पांडेय के भाई भतीजे ने हत्या कराई। Bjp के मंत्री के भाई के घर से शराब बरामद हुए। विनोद नारायण झा पर हत्याकांड का आरोप लगा। लेकिन इन सभी मामलों में कोई कार्रवाई नहीं की गई। यहां तक कि 15 दिन में शराब पीने से 65 लोगों की मौत हो गई, लेकिन सीएम नीतीश कुमार ने उन पर कोई शोक जाहिर नहीं किया।

Find Us on Facebook

Trending News