वेटनरी कॉलेज में धरने पर बैठे छात्रों को जबरन हटाने पहुंचा प्रशासन, कॉलर पकड़कर घसीटते हुए निकाला बाहर, गर्ल्स स्टूडेंट से भी की बद्सलूकी

वेटनरी कॉलेज में धरने पर बैठे छात्रों को जबरन हटाने पहुंचा प्रशासन, कॉलर पकड़कर घसीटते हुए निकाला बाहर, गर्ल्स स्टूडेंट से भी की बद्सलूकी

PATNA : पिछले दस दिन से भी ज्यादा समय से अपनी मांगों को लेकर वेटनरी कॉलेज के छात्रों को आज जबरन हटाने के लिए पुलिस की टीम पहुंच गई। जिसके बाद पुलिस की इस कार्रवाई का छात्रों ने विरोध शुरू कर दिया। इन छात्रों का आरोप था कि उनकी मांगों को लेकर अब तक कोई फैसला नहीं हुआ और आज जबरन कॉलेज में प्रदर्शन करने से रोका जा रहा है। इस दौरान महिला छात्रों ने पुलिस पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए जबरन घसीटकर बाहर निकालने का आरोप लगाया है। 

वेटनरी कॉलेज प्रबंधन और सरकार के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए छात्रों ने बताया कि दस दिन से हम लोग बैठे हुए है। अब जल्द ही यहां केद्रीय मंत्री आनेवाले हैं। उनके  सामने कॉलेज की पोल नहीं खुल जाए, इसके कारण सभी को जबरन यहां से बाहर निकाला जा रहा है। पुलिस की कार्रवाई से बेहद गुस्से में दिख रहे छात्रों ने बताया कि यहां लड़कियों का भी ख्याल नहीं रखा जा रहा है और उनके एप्रैन को भी फाड़ दिया गया है। यहां आए एडीएम जबरन छात्रों का कॉलर पकड़कर घसीट रहे थे, जिसमें कुछ लोग चोटिल भी हुए हैं।

यह है मांग

धरना पर बैठे छात्रों ने कहा कि बिहार वेटेनरी कालेज में छात्रों को इंटर्नशिप मात्र पांच हजार रुपये दिया जाता है, जबकि अन्य चिकित्सा संस्थानों में छात्रों को 17 से 25 हजार तक इंटर्नशिप दिया जाता है। वहीं, फेलोशिप वर्तमान में वेटेनरी कालेज में मात्र 1800 रुपये दिया जा रहा है, जबकि अन्य चिकित्सा संस्थानों में फेलोशिप की राशि 65000 से 82000 रुपये निर्धारित है। छह माह पहले भी आंदोलन पर छात्र उतरे थे, लेकिन आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला।



Find Us on Facebook

Trending News